★ माधवी उपन्यास

माध्वी नाटक

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में ‘माध्वी’ का नाट्य-मंचन काशी के सांस्कृतिक गौरव की पहचान है। ‘माध्वी’ महाभारत के उद्योग पर्व से ली गई एक संवेदनशील कथा है। इसमें कथा नायिका माध्वी एक पितृसतात्मक समाज में विडंबनापूर्ण जीवन जीने को अभिशप्त है। पुरुषार्थ दंभ के प्रबल आवेग में माध्वी के खुद का कोई अस्तित्व नहीं। माध्वी अपने महत्वाकांक्षी पिता राजा ययाति द्वारा मुनिकुमार गालव को भेंट कर दी जाती है। कारण यह है कि वह मुनिकुमार गालव के 800 अश्वमेधी घोड़ों की याचना को पूरा नहीं कर पाता है। दूसरी ओर मुनिकुमार गालव ऋषि विश्वामित्र को गुरुदक्षिणा के रूप में 800 अश्वमेधी घोड़ों को देने के लिए वचनबद्ध है। म ...

पंचद्रविड़

पंचद्रविड़ का शाब्दिक अर्थ है- पांच द्रविड़। ब्राह्मनोत्पत्ति-दर्पण में एक श्लोक इन पंचद्रविड़ विप्रों के अधिवास के सन्दर्भ में इस प्रकार आता है- "कर्णाटकाश्च तैलंगा:द्रविणाश्च तपोधनाः | महाराष्ट्राः गुर्जराश्च पंचद्रविड बन्धवः ||

                                     
  • ब क स ऑफ स पर ह ट रह यह फ ल म ग लशन नन द क उपन य स म धव पर आध र त ह म न क म र - म धव धर म न द र - र ज श र ज क म र - म त ह लन - व श य 1966
  •    गज नन म धव म क त ब ध नव बर - स त बर ह न द स ह त य क प रम ख कव आल चक, न ब धक र, कह न क र तथ उपन य सक र थ उन ह प रगत श ल कव त
  • कन म न ओद ल न न प स ह - कह कल ल ल आल म क त च त र म धव घ ष न त म लम ख उपन य स क सर जग ट ट त ई मग द न क क द कथ बच च क कह न य
  • Half Girlfriend च तन भगत द व र रच त अ ग र ज उपन य स ह ह फ गर लफ र न ड भ रत क उस नय प ढ क उपन य स ह ज नय म ल य क अ ग क र कर वर जन ओ क
  • भ वन क क रण ह उपन य स म क ष ण स थल आए ह उपन य सक र क पह ल ब झ न क आग रह क त म हलक पन ल द त ह पर त कह - कह उपन य स क चर त र अपन स म ओ
  • म क त ब ध न म नल ख त म स क ई एक ह सकत ह म क त ब ध उपन य स ज न न द र क म र द व र रच त उपन य स गज नन म धव म क त ब ध ह न द कव
  • 2009 अ ग र ज व मलय लम भ ष क भ रत य ल ख क थ व मलय लम भ ष म म धव क टट क न म स ल खत थ उन ह उनक आत मकथ म ई स ट र स अत यध क प रस द ध
  • ब गम य र ग महल म हल हल म लत म धव व मदनम ह न और ग लबह र सर ख इनक 60 स अध क उपन य स ह उनक उपन य स म कल पन तत त व क प रम खत द गय
  • उनक ल ख क छ उपन य स क न म चन दन, व पस इत य द ह ग लशन न द क उपन य स क स च - क ल घट त न इक क ग न ह क फ ल शर म ल म धव डरप क एक नद द
  • पद मभ षण अल करण स व भ ष त क य गय उनक उपन य स तमस पर म एक फ ल म क न र म ण भ क य गय थ उपन य स - झर ख तमस, बस त मय य द स क म ड क न त
  • प रक श त ह ई इन ह न उपन य स म स क पत र क प रक शन ई म प र रम भ क य इन ह न लगभग उपन य स ल ख इनक उपन य स म रज य ब गम त र व ण
  • र जन त क पहल करन म अहम भ म क न भ ई इनक द व र रच त एक उपन य स म मर धर तर व ल अर द खन उपन य स क ल य उन ह सन म स ह त य अक दम प रस क र असम य
  • कम ज न म स उनक उपन य स आय ज स पर फ ल मक र मण क ल न इस स न म स फ ल म भ बन ई  कई सम म न स सम म न त व न द क म र श क ल क उपन य स द व र म एक
                                     
  • जनवर - फरवर ह न द न टकक र तथ उपन य सक र थ ह न द उपन य स क व क स म उनक य गद न महत त वप र ण ह उन ह न एक तरफ प र मच द क स म ज क
  • ह उनक उपन य स ल ल प ल जम न क ऑथर स ग ल ड ऑफ इण ड य द व र ह ज र दरब र क उत तर प रद श ह न द स स थ न क प र मचन द प रस क र द व र उपन य स ध र सम र
  • ज न ज त ह उन ह न दस उपन य स ल ख ज न म स स र स क फ ल सर व ध क ल कप र य रचन ओ म स एक ह उन ह 1965 म इस उपन य स क ल ए मदन प रस क र स
  • कह न एव उपन य स द न व ध ओ म उन ह न सम न र प स क र य श लत एव दक षत क पर चय द य ह अब तक उनक 12 कह न स ग रह और 10 उपन य स प रक श त ह
  • सम च र पत र थ इसक सम प दक ब लक ष ण भट ट थ ह द प रद प म न टक, उपन य स सम च र और न ब ध सभ छपत थ ह द प रद प क म खप ष ठ पर ल ख थ - श भ
  • उपन य स ह यह औरग ज ब द व र उसक भ इय क व र द ध क ए गए षड य त र क कथ ह व श व भर न थ शर म न त र क तर ण 1925 न मक श र ग र क उपन य स प रस त त
  • सम बन ध त ल खक क उपन य स क व श ल षण - म ल य कन ह आ ह ब द म उपन य स - सम क ष क उनक द महत वप र ण प स तक समय, सम ज और उपन य स एव श न ख त
  • मह त म ईस च बन च र ब च र ग ग क ब ट आव स, अन नद त म धव मह र ज मह न उपन य स च द हस न क खत त द ल ल क दल ल ब ध व क ब ट शर ब
  • उपन य सक र पद मन भ ग ह ञ बर व और रजन क न त बरदल न ऐत ह स क उपन य स ल ख स म ज क उपन य स क क ष त र म द व चन द र त ल कद र व ब न बर व क न म प रम खत
  • श र न व सद स क उपन य स पर क ष ग र क ह न द क पहल उपन य स कह ज त ह क छ व द व न श रद ध र म फ ल ल र क उपन य स भ ग यवत क ह न द क पहल उपन य स म नत ह
  • व द य र थ थ 1917 ई. म इनक पहल उपन य स अल ल ह अकबर प रक श त ह आ ज म र क र ल क ट प रल प वर उपन य स क आध र पर रच गय थ इस समय इनक
  • भ रत य प रश सन क स व क अध क र बन प ट ल क पहल उपन य स प न पत 1988 म प रक श त ह आ यह उपन य स प न पत क त त य य द ध पर आध र त ह ज सम अहमद श ह
                                     
  • ल ख उनक प रस द ध उपन य स ब च म व नय भ नम ल क पर व श पर ह ल ख गय ह इसस पहल व अपन स न य ज वन क अन भव पर एक उपन य स जलत जह ज पर ल ख
  • छ य न व द कथ - चक र भ ल ब ल उपन य स व द न ब ल उपन य स ह न द स ह त य व मर श व श व - स ह त य ह न द कह न स ह त य ह न द उपन य स स ह त य प रद प प र च न
  • स ह त यक ष त र म प रव श करन लग 1857 म ब ब पदमज न यम न पर यटन न मक प रथम उपन य स ल खकर इस नव न स ह त य प रक र क श भ र भ क य इस तरह व द जद क र तन
  • म प रथम उपन य स चट ट न ध र व ह क प रक श त ह आ 1962 म र जस थ न स ह त य अक दम न परद श क उपन य स जय मह क ल क सर वश र ष ठ उपन य स क प रस क र
  • अर थश स त र क भ व ल खक थ और उन ह न कई उपन य स भ ल ख - 1. र जप त ज वनस ध य 2. मह र ष ट र ज वनस ध य 3. म धव क कण 4. स स र, तथ 5. सम ज इनक समस मय क
  • कम ज न म स उनक उपन य स आय ज स पर फ ल मक र मण क ल न इस स न म स फ ल म भ बन ई  कई सम म न स सम म न त व न द क म र श क ल क उपन य स द व र म एक
  • क ष णक म र शर म प रस थ न परद श र म वर म क प रस त त कर सकत ह ज उपन य स क त य ह ख बच द बघ ल, ट क न द र ट कर ह र मग प ल कश यप, नर न द रद व
  • ब ग ल सरक र न क य थ यह फ ल म ब भ त भ षण ब ध प ध य य क इस न म क उपन य स पर आध र त ह प थ र प च ल ह न द अन व द - पथग त 1955 म बन ब ग ल भ ष
  • फ ल म क हव ल द य गय ह - स ल ब ल क उपन य स हर ज ग और ज एम. क टज क य थ य वन सलम न रशद क ब ल - उपन य स ह र न ए ड द स ऑफ स ट र ज Harun and
                                     
  • ह दयस ह प रध न न उपन य स क क ष त र म ज वन क गहन समस य ओ क स थ पन क और उनक प रस द ध उपन य स स व स न म न छ म आध न क उपन य स क सभ लक षण प ए
  • स म ज क श ष ट च र क उपन य स ए.एन. क ष णर व क स ध य र ग म चर त रप रध न उपन य स कस त र क चक रद ष ट म व य ग यप रध न उपन य स द व ड क अ तर ग
  • भ स वच छ द अत क त छ द क प रचलन ह आ इस क ल म गद य - न ब ध, न टक - उपन य स कह न सम ल चन त लन त मक आल चन स ह त य आद सभ र प क सम च त व क स
  • मलय लम क उपन य स स ह त य, न टक स ह त य और कह न स ह त य क व क स भ 20व सद म ह आ च त म नन और स व र मन प ल ल क ब द क छ समय तक उपन य स श ख म
  • स दर य प सक म क भ नय क अप र व क त क कर क त र म रमण यत क ब ज र ख ल रह थ उपन य स और न टक म श ग र रस क प रध नत ह रह थ और ब ग ल क बह त स बड
  • उपन य स द प न र व ण 1878 - 80 ई. और स म ज क उपन य स व रज 1878 ई. उनक द व र अन द त उपन य स ह लघ उपन य स क व नवन य स कहत थ कल पलत 1884 - 85
  • भ रत य श र श रद सम म न म.प र. क ह स एव स स क त न य स द वर य एव म धव र व सप र पत र स ग रह लय क र म श वर ग र स ह त य क पत रक र त प रस क र
  • म क य ह अन द त ग रन थ - रसकप रम उपन य स 1993, अन द त ऐत ह स क स स क त उपन य स गद यक व य इस उपन य स क न य क रसकप र क न म व ख य त न त य गन
  • र मप रस द ब स म ल क प स तक ब लश व क क करत त र मप रस द ब स म ल क उपन य स क र न त ग त जल क क र शह द प र मप रस द ब स म ल क जब तश द क त

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →