ⓘ शाह बेगम. यह आमेर के राज भगवानदास की पुत्री थी इसका विवाह जहागीर के साथ हिन्दू मुस्लिम रीति रिवाज के साथ हुआ था उस समय जहागीर 15 वर्ष का था विवाह 13 feb 1585 को ..

                                     

ⓘ शाह बेगम

यह आमेर के राज भगवानदास की पुत्री थी इसका विवाह जहागीर के साथ हिन्दू मुस्लिम रीति रिवाज के साथ हुआ था उस समय जहागीर 15 वर्ष का था विवाह 13 feb 1585 को हुआ था खुसरो ऐसी का पुत्र था ।

                                     
  • ज त श हजह क न म एक ऐस आश क क त र पर ल य ज त ह ज सन अपन ब ग म म मत ज ब गम क ल य व श व क सबस ख बस रत इम रत त ज महल बन न क यत न क य सम र ट
  • श ह जह ब गम क जन म इस ल मनगर म ह आ थ ज क भ प ल क ब गम क र प म त सर स थ न पर थ ज नक म स क दर ब गम थ इनक जन म इस ल मनगर प र न न म जगद शप र
  • ब गम हज रत महल नस त ल क بیگم حضرت محل 1820 - 7 अप र ल 1879 ज अवध अउध क ब गम क न म स भ प रस द ध थ अवध क नव ब व ज द अल श ह क द सर पत न
  • र ब न ग हर ख न क ब च प र म क द ख य गय ह ब गम ज न क व श य लय क र ज स हब नस र द द न श ह क द खर ख म रख ज त ह ज नक स रक षण क तहत व
  • क दस य ब गम उधम ब ई म त य 1765 म ग ल ब दश ह म हम मद श ह क पत न और ब दश ह अहमद श ह बह द र क म थ उन ह न व स तव क र ज ट, भ रत म 1748
  • म हम मद आज म श ह म ग ल य सल तनत क आर ज वल अहद ह श य र श यर ज ब न न स और गज ब क पस द द ब ट शहज द ज नत न न स ख त ब: प दश ह ब गम और स ल त न
  • ब गम त र क ब गम फ रस بیگم उर द بیگم एक त र क श र षक ब ग क मह ल पर व र क सदस य य ब ग एक उच च अध क र क द य ह शब द ब गम शब द ब ग
  • स क दर महल, अवध क नव ब व ज द अल श ह क सबस प र य ब गम थ नव ब व ज द अल श ह न लखनऊ क स म पर अपन ब गम क न म पर स कन दर ब ग क न र म ण करव य
  • म व म गल सम र ट बन इसक म त उधमब ई थ ज क दस य ब गम क न म स प रस द ध थ अहमद श ह बह द र बचपन स ह क फ ल ड प य र म बड ह ए 1725 म उनक
  • श ह हम म क न र म ण म गल ब दश ह श हजह न अपन ब गम म मत ज महल क ल ए त प त नद क क न र ब रह नप र क क ल म करव य थ यह स म रक फ र ख क ल क
  • ग हर र ब गम 17 ज न 1631 1706 ग हर आर ब गम य दहर आर ब गम क त र पर भ ज न ज त ह वह म गल स म र ज य क एक श ह र जक म र थ और म गल सम र ट
                                     
  • ब रह नप र म स थ त ब लक स ब गम क मकबर क कह ज त ह ब लक स ब गम म गल ब दश ह श हजह और म मत ज महल क द सर प त र श ह श ज क पत न थ ब रह नप र
  • म म हम मद क एकम त र ब ट हय त बख ब गम स व व ह क य थ उनक ब ट अब द ल ल क त ब श ह ब द म ग लक ण ड क श ह बन क त बश ह न श व ज क 1676 म
  • जह आर ब गम उर द شاهزادی جہاں آرا بیگم صاحب 2 अप र ल 1614 16 स तम बर 1681 सम र ट श हजह और मह र न म मत ज महल क सबस बड ब ट थ वह अपन
  • कई अन य दर शन य इम रत भ ह नव ब सआदत अल ख क मकबर ब गम हजरत महल प र क एव मकबर श ह नजफ इम मब ड आद इस इम रत क स न दर स थ पत य एव ग रवमय
  • ब र ज स क द र 20 अगस त 1845 - 14 अगस त 1893 व ज द अल श ह क प त र थ और आख र पदश ह - ए अवध, श ह - ए जम न कदर और उनक क छ व षय न 1857 क भ रत य व द र ह
  • पहल पत न र जक म र मनभ वत श ह ब गम क द व र आय ज त क य गय ब लक स मक न ब गम जह ग र क त सर पत न थ मक न ब गम शहज द ख र रम क म थ ज
  • बह द र श ह प रथम क जन म 14 अक त बर, सन 1643 ई. म ब रह नप र, भ रत म ह आ थ बह द र श ह प रथम द ल ल क स तव म ग ल ब दश ह 1707 - 1712 ई. थ शहज द
  • अत म हम मद न महम द श ह द व र पर ज त श हश ज क श रगढ क क ल म क द कर रख थ उस क दख न स म क त कर न क ल ए उसक ब गम वफ ब गम न ल ह र आकर मह र ज
  • व ज द अल श ह क एक पत न ब गम हज रत महल लखनऊ म ह रह और जब म य द ध ह आ त स व ध नत क ल ए लड न व ल क उन ह न अग आई क ब गम न कभ ह र
  • न गर क सम म न स उन ह सम म न त क य म हम द अल श ह क जन म म द लह न ब गम और स यद अहमद अल श ह क घर ह आ उनक त न भ ई थ स थ न य म शनर गर ल स
  • थ लखनऊ क व द र ह य न कब ज कर ल य थ वज द अल श ह क दस वर ष य ब ट ब ज स क द र और ब गम हजरत महल क र ज घ ष त कर द य गय थ म लव न नए प रश सन
                                     
  • उनक द प त र थ म र ज अब द ल ल ब ग ग ल ब क प त न इज ज त - उत - न स ब गम स न क ह क य और अपन सस र क घर म रहन लग उन ह न पहल लखनऊ क नव ब
  • श ह आलम द व त य - ज स अल ग हर भ कह गय ह भ रत क म गल सम र ट रह इस गद द श हजह त त य क हट कर म ल स त बर क इसक र ज य
  • पहल ज म मस ज द ह ज सक न र म ण फ र क श सनक ल म ब दश ह आद ल श ह फ र क क ब गम र क य न करव य थ इस मस ज द क न र म ण क समय ब रह नप र क अध क श
  • और द ल ल म क ह न र ह र सम त तखत ऐ त ऊज इसक ल टकर व पस आ गय म हम मद श ह र ग ल बह त ह कमज र श सक क र प म ऊभर कई स र व द श आक रमण ह ए ब ज र व
  • बद र - उन - न स स ब गम स ह ब 27 अक ट बर 1647 9 अप र ल 1670 म गल सम र ट और गज ब और नव ब ब ई क ब ट थ वह भव ष य क म गल सम र ट म ज ज म बह द र श ह I क बहन
  • अवध क नव ब व ज द अल श ह 1822 - 1887 क ग र ष म व स क त र पर बन य गय थ नव ब न इसक न म अपन पस द द ब ग म स क दर महल ब गम क न म पर स क दर ब ग
  • मर यम उज - ज म न ज ध ब गम स ह ब नस त ल क مریم الزمانی بیگم صاحبہ जन म 1542, एक र जव श र जक म र थ ज म ग ल ब दश ह जल ल उद द न म हम मद अकबर स
  • घ ट घर क न र म ण नव ब नस र द द न ह दर न सर ज र ज क पर क आगमन पर करव य थ ब गम हजरत महल प र क क सम प सआदत अल ख और ख र श द ज द क मकबर ह यह मकबर

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →