ⓘ शाह आलम I ..

                                     

ⓘ शाह आलम I

  • ज वन म सक र य भ म क न भ ई ब रह ब ट म स ग य रहव श ह श ह आलम न अपन प त क त ब - ए - आलम क सह यत क एक द न एक द लचस प चमत क र ह आ एक द न र श त
  • बह द र श ह प रथम क जन म 14 अक त बर, सन 1643 ई. म ब रह नप र, भ रत म ह आ थ बह द र श ह प रथम द ल ल क स तव म ग ल ब दश ह 1707 - 1712 ई. थ शहज द
  • अल उद द न श ह क अपन उत तर ध क र घ ष त क य इस व श क अन त म श सक अल उद द न आलम श ह न स व च छ स द ल ल सल तनत क अप र ल क बहल ल ख न ल द क ल ए
  • अपन छ त र क स च म उन ह न स द क न म श म ल क य थ म ग ल ब दश ह श ह आलम स द क श ग र द बन और अपन रचन ओ म ग लत य ठ क करव न क ल ए स द
  • श ष ट च र भ खत म ह गय थ स प ह व द र ह क क छ व द र ह य न जब श ह आलम क व शज बह द र जफर श ह II स अपन न ष ठ क घ षण क त ब र ट श न इस स स थ क
  • सड क आग हर य ण क ग ड ग व, झज जर और बह द रगढ नगर तक ज त ह र ज श ह आलम द व त य क तहत म ग ल स न क कम डर - इन - च फ म र ज नजफ ख 1733 1782
  • म र च ज स आमत र पर और गज ब य आलमग र प रज द व र द य ह आ श ह न म ज सक अर थ ह त ह व श व व ज त क न म स ज न ज त थ भ रत पर र ज य
  • अब द ल - क द र ज ल न 1 Khwaja शह ब अल - द न स हरवर द 2 हज रत अब मदय न 3 श ह अब उमर क र श मज र क 4 श ख क र ब अल ब न म स ल 5 श ख अह मद ब न म ब रक
  • न ज म अल ख न न स ब द र स न ज म अन समर थन क य गय थ और उनक सम र ट श ह आलम द व त य स द स त ह गय म र फरख द अल ख न न स र - उद - ड लह क जन म ब दर
  • क क रण 1400 क आस - प स द ल ब द म चल गए, और जह स बह मन र ज फ र ज श ह बह मन क न म त रण पर, कर न टक क ग लबर ग चल गए, जह उन ह न अपन ज वन
  • ऊपर क रम क बल ल ब ज न क फ न र श क य थ ब द म स ह ल तनव र न फ व द आलम क स थ म लकर व व क ट क ल ए क ल रन ज ड थ और उस म च म तनव र न
                                     
  • ब ख र हज रत सईदन अल उर फ द न यल हज रत सईदन अहमद बद यन हज रत सईदन सय यद श ह ख वज न ज म द द न औल य प ग बर हज रत म हम मद अल इब न अब त ल ब हसन अल - बसर
  • म पर चय क य और स थ प त भ अ त म वह बह मन स ल त न, त ज उद - द न फ र ज श ह क न म त रण पर ग लबर ग म बस गए ब द नव ज क जन म 1321 म द ल ल म
  • अब ल हम द द व त य उस म न त र क य ई : عبد الحميد ثانی, Abdü l - Ḥamīd - i sânî त र क य ई : İkinci Abdülhamit 21 स तम बर 1842 - 10 फ रवर 1918 उस म न
  • स न - अध क र और प त र आलम श ह क प त र श ह ब दरबख त क प स पन ह ल क स रक ष क ल ए उनक स न य - सहय ग न य क त क य गय और गज ब क प त श ह ब दरबख त क न त त व
  • Market Chaukundi Tombs Karachi Beach Karachi04.jpg Elphinstone Street c. 1930 I I Chundrigar Road Mohatta Palace Saint Patrick s Cathedral Karachi Frere Hall
  • बह द र श ह जफर द प वल क त य ह र क र प म मन त थ और इस अवसर पर आय ज त क र यक रम म व भ ग ल त थ श ह आलम द व त य क समय म सम च श ह महल क
  • न य य ध श क उल म ह न आवश यक ह ज सक क अध ययन इस ल म य और व यवस थ क आलम ह ग ज न ह इस ल म क न न और न यम म अत यध क म ल य कन क शल प र प त
  • Faith and Practice of Al - Ghazali. London: George Allen and Unwin Ltd. Jane I Smith, Islam in America, p 36. ISBN 0231519990 Dhahabi, Siyar, 4.566 Willard
  • भ रत स न कल ह जह स क ल द र ल उल म द वब द स थ त ह आ द लन व द व न श ह व ल ल ल ह द ह ल व 1703 - 1762 स प र र त थ और एक दशक पहल उत तर भ रत
  • प र त य श ल य ह इनम प ज ब श ल 1150 - 1325 ई. ज स म ल त न क श रकन आलम 1320 और श हय स फ गर द ज 1150 तब र ज 1276 बह उलहक 1262 क मकबर

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →