ⓘ शिवचरण माथुर. इन्हें भी देखें: राजस्थान के मुख्यमंत्री शिवचरण माथुर एक भारतीय राजनेता है और राजस्थान के मुख्यमंत्री रह चुके है।शिव चरण माथुर एक भारतीय राजनीतिज् ..

                                     

ⓘ शिवचरण माथुर

इन्हें भी देखें: राजस्थान के मुख्यमंत्री

शिवचरण माथुर एक भारतीय राजनेता है और राजस्थान के मुख्यमंत्री रह चुके है।शिव चरण माथुर एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक नेता, वह 1981 से 1985 तक राजस्थान का मुख्यमंत्री और फिर 1989 से 1989 तक; बाद में, वह 2008 से 2009 तक असम के राज्यपाल थे।

माथुर 14 जुलाई 1981 को राजस्थान की मुख्यमंत्री बने और 23 फरवरी 1985 तक उस पद का आयोजन किया। इसके बाद वह फिर से 20 जनवरी 1988 से 4 दिसंबर 1989 तक मुख्यमंत्री बने। 2003 में उन्हें मांडलगढ़भीलवाड़ा से विधायक के रूप में चुना गया।

बड़े पैमाने पर अपील हासिल करने के बावजूद माथुर ने अपनी विशिष्ट योग्यता के माध्यम से उच्च पद प्राप्त किया और कांग्रेस पार्टी के आंतरिक पवित्र स्थान से महत्वपूर्ण समर्थन के साथ।

2008 में असम के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया, वह 25 जून 2009 को हृदय की से उनकी मृत्यु तक इस पद पर बने रहे।

                                     

1. व्यक्तिगत जीवन

शिव चरण माथुर का जन्म 1926 को एक कायस्थ परिवार में शिवरात्रि के पवित्र दिवस पर मध्य प्रदेश के गुना जिले के एक छोटे से गांव में हुआ था। प्रतिकूल पारिवारिक परिस्थितियों से मजबूर, शिव चरण, जब वह केवल चार वर्ष के थे, अपनी मां के साथ करौली के साथ अपने नाना, भंवर लाल की संरक्षकता में रहते थे।

                                     

2. राजनीतिक जीवन

राजस्थान छात्र कांग्रेस 1945-1947 के महासचिव

अध्यक्ष, नगरपालिका बोर्ड, भीलवाड़ा 1956-57

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस समिति 1967 के सदस्य

अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के सदस्य 1972 से आज तक

प्रमुख, जिला परिषद, भीलवाड़ा 1964-64

तीसरे लोक सभा सदस्य 1964-1967

सदस्य, राजस्थान राज्य विधान सभा

राजस्थान विधान सभा के अध्यक्ष सार्वजनिक उपक्रम समिति 1980-81

संयोजक, राजस्थान विधान सभा की नियम समिति 1985-87

अध्यक्ष, राजस्थान विधान सभा की अधीनस्थ विधान समिति 1987-88

राजनीति मंत्रिमंडल में शिक्षा, विद्युत, पीडब्ल्यूडी, जनसंपर्क मंत्री 1967-72

राजस्थान मंत्रिमंडल में खाद्य और नागरिक आपूर्ति, कृषि मंत्री, पशुपालन, डेयरी और योजना मंत्री 1973-77

राजस्थान के मुख्यमंत्री 1981-85 और 1988-89

सदस्य, दसवीं लोकसभा 1991-9 6

अध्यक्ष, विशेषाधिकार समिति, लोक सभा, 1991-96

ऊर्जा, लोकसभा 1994-96 पर उप-समिति के संयोजक

सदस्य, कार्यकारी समिति, राष्ट्रमंडल संसदीय संघ 1994-96

जीवन अध्यक्ष, सामाजिक नीति अनुसंधान संस्थान, जयपुर 1985

अध्यक्ष, अनुमान समिति, राजस्थान विधान सभा 1998 -2003

अध्यक्ष, प्रशासनिक सुधार आयोग राजस्थान 1999 -2003

सदस्य, राजस्थान विधान सभा की नियम समिति 2004

2008 में असम के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया, वह 25 जून 2009 को हृदय की से उनकी मृत्यु तक इस पद पर बने रहे।

                                     
  • अपन पहल च न व लड थ जह उन ह न भ रत य र ष ट र य क ग र स क श वचरण म थ र र जस थ न क द - म क बल म ख यम त र और र जस थ न व ध न म डल क छह - द वस य
  • तथ स न क कल य ण व भ ग क प रभ र र ज य म त र न य क त क ए गए उस समय श वचरण म थ र र जस थ न क म ख यम त र थ म र च म व सहक र त वन एव पर य वरण
  • जगन न थ पह ड य 6 ज न 1980 13 ज ल ई 1981 भ रत य र ष ट र य क ग र स 14 श वचरण म थ र 14 ज ल ई 1981 23 फरवर 1985 भ रत य र ष ट र य क ग र स 15 ह र ल ल द वप र
  • प र व ध क र ह र ल ल द वप र उत तर ध क र श वचरण म थ र पद बह ल 04 द सम बर 1989  04 म र च 1990 प र व ध क र श वचरण म थ र उत तर ध क र भ र स ह श ख वत जन म
                                     
  • क म ख यम त र क र यक ल फरवर 23, 1985 म र च 10, 1985 प र व ध क र श वचरण म थ र उत तर ध क र हर द व ज श च न व - क ष त र क भलगढ जन म 1925 म त य 2004
  • प र ट 153 भ लव ड द व न द र स ह भ रत य र ष ट र य क ग र स 154 म डलगढ श वचरण म थ र भ रत य र ष ट र य क ग र स 155 जह जप र रतनल ल ट म ब भ रत य र ष ट र य
  • क ग र स 153 भ लव ड स भ ष बह द य भ रत य जनत प र ट 154 म डलगढ श वचरण म थ र भ रत य र ष ट र य क ग र स 155 जह जप र श व ज र म म ण भ रत य जनत प र ट
  • स न दर य सप तशत श र र द रद व त र प ठ पत रद तम प दत र णद तम श र श वचरण शर म ज गरणम श र प रभ कर न र यण कवठ कर र जय ग न धन य ग र म श र

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →