ⓘ उच्च कोटि चिन्तन या उच्च कोटि चिन्तन कौशल शैक्षिक सुधार की एक संकल्पना है जो अधिगम वर्गिकी पर आधारित होती है, जैसे ब्लूम की वर्गिकी पर। इसका आधार यह है कि कुछ प ..

                                     

ⓘ उच्च कोटि चिन्तन

उच्च कोटि चिन्तन या उच्च कोटि चिन्तन कौशल शैक्षिक सुधार की एक संकल्पना है जो अधिगम वर्गिकी पर आधारित होती है, जैसे ब्लूम की वर्गिकी पर। इसका आधार यह है कि कुछ प्रकार के अधिगम में दूसरों की अपेक्षा अधिक संज्ञानात्मक प्रसंस्करण की आवश्यकता होती है, किन्तु इनसे मिलने वाले लाभ भी अधिक हैं।

                                     
  • आल चन त मक च न तन क भ न न - भ न न पर भ ष ए ह ज नम प र य तथ य क औच त यप र ण, स क प ट कल और पक षप तरह त व श ल षण श म ल ह त ह उच च क ट च न तन
  • स क ल म वर ष भर पढ त रह फ र वह ल बन न म मदरस त ल ह कमत न मक एक उच च क ट क व द य लय म श क ष प र प त करन क ल य चल गए वह श क ष प र प त
  • भ यह व श वक श उच च क ट क क त नह ह इसम स थल - स थल पर त र ट य एव व स गत य थ यह लगभग सम न अन प त म उच च और न म न क ट क न ब ध क म श रण
  • व शद क त त य चरण म उच च क ट क कव सम ल चक, स ह त यश स त रक र तथ व य करण थ कव क र प म उनक स थ न उच च क ट क उत क ष ट कव य म क ल द स
  • बहर मप र स प र रम भ क 1904 म म ध यम क श क ष प र ण करन क पश च त उच च श क ष ह त कलकत त क प र स ड स क ल ज म प रव श ल य 1908 म अ ग र ज
  • आस व द क ल क क आन द क क ट म रख गय ह क य क उसक स ध स ब ध ल क क वस त ओ स ह ह दय क आस व द क अल क क आन द क क ट म म न ज त ह क य क
  • ध वन व द क व च र क म ल क और अत य त व य पक च तन म न ज त ह स त त र, न त और स भ ष त क भ अन क उच च क ट क ग र थ ह इनक अत र क त श ल प, कल स ग त
  • क प ठक क व च र क - व त त क बह त सम द ध क य ह एक ह स थ न पर इतन उच च क ट क अध ययन स मग र प र प त ह न ह द म ल खन - पढ न व ल प ठक क ल ए
  • करन और भड क न म सह यक ह इसल ए न दन य और त य ज य ह ध र म क और उच च क ट क न त क स ह त य इसक अपव द ह क त अध क श स ह त य इस आदर श श र ण म
  • द ट टलर और द स प क ट टर न म क पत र न क ल कर अ ग र ज स ह त य म उच च क ट क पत रक र त क भ न व रख अ ग र ज स ह त य क इत ह स म ड ज न सन
  • भ उन ह न अपन म ध यम क और फ र उच च श क ष प र क प त न ब ल य वस थ म ह उनक व व ह भ कर द य थ व उच च श क ष क ल ए ल ह र चल गए सन
  • स ख य सब म ल कर प र य: तक पह च गई थ क त उनम स क लगभग ह उच च क ट क प रत भ श ल व द व न थ उसक परम प र य श ष य उसक प स ह रह करत
                                     
  • आस व द क ल क क आन द क क ट म रख गय ह क य क उसक स ध स ब ध ल क क वस त ओ स ह ह दय क आस व द क अल क क आन द क क ट म म न ज त ह क य क
  • क आज स लगभग प च हज र वर ष पहल उत तर भ रत क बह त बड भ ग म एक उच च क ट क स स क त क व क स ह च क थ इस प रक र व द म पर लक ष त भ रत य
  • द व व द ज क ह द न ब ध और आल चन त मक क ष त र म महत वप र ण स थ न ह व उच च क ट क न ब धक र और सफल आल चक ह उन ह न स र, कब र, त लस आद पर ज व द वत त प र ण
  • क द र बन कर ज अभ तप र व स घबद ध प रयत न क य उसक ऐत ह स क महत व ह य उच च क ट क स गठनकर त और व यवस थ पक थ समर थ म त र क सहय ग और अपन ब द ध बल
  • ब त ल पच स जव न क स ह सन बत त स न ह लच द क मज हब इश क उच च क ट क रचन ए ह 19व सद क आर भ म ह इ श न र न क तक क कह न
  • र प म प रस त त क य गय ह नर न द र क हल न प र य स स भ अध क उच च क ट क ग र थ क स जन क य ह व य ग एक और ल ल त क न - व य ग य - 1970 2000
  • च ल ब र ज ल तथ अर ज ट न म ल ह क ख न ह ब र ज ल व श व म उच च क ट क ल ह - अयस क क सबस बड उत प दक ह प र और च ल त ब क सबस बड
  • प रस ग आत ह उनस क ट 107 स ऊपर स ख य ओ क अलग - अलग न म क ब र म प छ गय य व स द ध र थ ग तम ब द ध क बचपन क न म न क ट क ब द 1053 क स ख य ओ
  • अरव न द न भ रत य श क ष च न तन म महत त वप र ण य गद न क य उन ह न सर वप रथम घ षण क क म नव स स र क ज वन म भ द व शक त प र प त कर सकत ह व
  • ध र म क द ष ट स पन न कल क र ब न क स ब हर न य त रण अथव ब ध यत क उच च क ट क कल क स जन करत थ ट ल स ट य 1828 - 1910 ई. कल व द व च रध र क
                                     
  • ग रन थ व क य पद य क अन तर गत शब द क स वर प क स क ष म, गहन एव व य पक च न तन उपलब ध ह त ह वह शब द क ब रह म क र प म पर कल प त क य गय ह और
  • द य न स य स स ल म स क ह ज न ह न यह स द ध कर द य क भ ष ह उच च क ट क सफल म ध यम ह सकत ह 20व शत ब द क आर भ तक पद य तथ गद य इस म ध यम
  • क ल द स, वरदर ज च र य, व पद व आद म द ब द ध क ल ग सरस वत उप सन क सह र उच च क ट क व द व न बन थ इसक स म न य त त पर य त इतन ह ह क य ल ग अध क
  • वस त य चर त र क व स तव कत क ज ञ न नह रखत कल ओ और कव त ओ क न म न क ट क म नन व ल प ल ट अन करण क द पक ष म नत ह - पहल ज सक अन करण क य
  • स र वभ म श क ष क स तर तक पह चन म बह त अध क समय लग ग ब न य द श क ष उच च क ट क ह न क क रण अध क मह ग ह ब न य द श क ष क र ष ट र य सम त द व र
  • बह त कम ह त थ अध कतर द र शन क आच र य न र जन वन म न व स, अध ययन तथ च न तन पसन द करत थ व ल म क सन द पन कण व आद ऋष य क आश रम वन म ह
  • द ष ट क ण क पर च यक यह ग रन थ इत ह स च र य र जव ड क व य पक अध ययन और च न तन क एक अन ठ उपलब ध ह स वर ग य व श वन थ क श न थ र जव ड क ब र म ज स
  • ब र ट इत य द ह ल क न इसम स द ह नह क इस य ग क अध क श कव त उच च क ट क नह ह 14व सद क उत तर र ध न पहल पहल च सर और उनक अत र कत क छ

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →