ⓘ भारत विकास परिषद एक सेवा एवं संस्कार-उन्मुख अराजनैतिक, सामाजिक-सांस्कृतिक स्वयंसेवी संस्था है। जो बाबा साहब के आदर्शो को अपनाते हुए यह मानव-जीवन के सभी क्षेत्रो ..

                                     

ⓘ भारत विकास परिषद

भारत विकास परिषद एक सेवा एवं संस्कार-उन्मुख अराजनैतिक, सामाजिक-सांस्कृतिक स्वयंसेवी संस्था है। जो बाबा साहब के आदर्शो को अपनाते हुए यह मानव-जीवन के सभी क्षेत्रों में भारत के सर्वांगीण विकास के लिये समर्पित है। इसका लक्ष्यवाक्य है - "स्वस्थ, समर्थ, संस्कृत भारत"।

                                     

1. स्थापना

स्वामी विवेकानन्द के जन्मशताब्दी के अवसर पर १२ जनवरी सन् १९६३ कों भारत के प्रमुख उद्योगपतियों एवं समाज-सुधारकों जैसे- लाला हंस राज, डॉ सूरज प्रकाश आदि द्वारा "नागरिक समिति" Citizens Council की स्थापना की गयी थी ताकि चीनी आक्रमण का प्रतिकार किया जा सके। बाद में इसी का नाम "भारत विकास परिषद" BVP रखा गया। १० जुलाई सन् १९६३ को सोसायटीज पंजीकरण अधिनियम, १८६० के अन्तर्गत इसका पंजीकरण हुआ। इस प्रकार यह परिषद स्वामी विवेकानन्द के आदर्शों एवं शिक्षाओं पर चलती है।

                                     

2. कार्य

  • सेवा योजना के द्वारा दिव्यांगो का कल्याण, पुनर्वास, आदिवासी विकास, गाँव और शहरी - झोपड़ी विकास, सामूहिक सरल विवाह, महिलाएं और बच्चे को कानूनी सलाह देती है।
  • भारत विकास परिषद् संस्कार, सेवा, संपर्क, परियोजना के द्वारा समाज की सेवा करती है।
  • संस्कार योजना के द्वारा बच्चों, युवाओं, परिवार, वरिष्ठ नागरिक के लिए विकास कार्यक्रम चलाती है। जिसमे प्रमुख है- बाल संस्कार शिविर, राष्ट्रीय संस्कृत गीत प्रतियोगिता, भारत को जानो, युवा संस्कार शिविर, परिवार संस्कार शिविर, आदि।

अपने संपर्क योजना के द्वारा संस्कृति सप्ताह, स्थापना दिवस और प्रतिभा सम्मान, सेमिनार जैसी कार्यक्रम का आयोजन समय-समय पर करती है।

                                     

3. परिणाम

  • भारत विकास परिषद् देश का एक मात्र संगठन है जो संस्कृत भाषा में देशभक्ति गीत प्रतियोगिता आयोजित करती है। जो शाखा से राष्ट्रीय स्तर तक होती है।
  • साल दर साल भारत विकास परिषद् अपने 13 केन्द्रों के द्वारा मुफ्त में कृत्रिम पैर विकलांग लोगो को उपलब्ध करती है। वर्ष 2007-08 में कृत्रिम पैर, व्हील चेअर 23, 658 विकलांग लोगो को उपलब्ध कराई।
  • गुरु वंदना छात्र अभिनन्दन कार्यक्रम, प्रत्येक साल करती है जिसमे 30 लाख से ज्यादा छात्र भाग लेते हैं। ऐसे कार्यक्रम का उद्देश्य बच्चों में अपने माता- पिता और गुरु के प्रति सम्मान का भावना जगे.
  • 1967 से परिषद् देशभक्ति गीतों का राष्ट्रीय समूह गान प्रतियोगिता करती है, जिसमे स्कूली बच्चें भाग लेते हैं। यह कार्यक्रम शाखा स्तर से राज्य और राष्ट्रीय स्तर तक आयोजित होती है। लगभग 5, 000 स्कूलों द्वारा लाखों बच्चें इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेते हैं।
                                     
  • म त भ ष व क स पर षद ह न द एव भ रत य भ ष ओ क श क ष क म ध यम बन न एव उनक व क स क समर प त स स थ ह वर ष 2000 क आरम भ म द श म श क ष और
  • सभ क अ तर र ष ट र य आर थ क एव स म ज क सहय ग एव व क स क र यक रम म सह यत करत ह यह पर षद स म ज क समस य ओ क म ध यम स अ तर र ष ट र य श त क
  • च क त स श क ष म त ज स ह रह व क स और प रगत क क रण उत पन न ह ई च न त य स न पटन क ल ए भ रत य आय र व ज ञ न पर षद अध न यम क प र वध न पर य प त नह
  • भ रत सरक र भ रत सरक र क एक म त र लय ह म नव स स धन व क स म त र लय, प र व म श क ष म त र लय 25 स त बर 1985 तक भ रत म म नव स स धन क व क स क
  • ज ल पर षद उत तर कछ र ह ल स ज ल लद द ख स व यत त पर वत य व क स पर षद करग ल लद द ख स व यत त पर वत य व क स पर षद लद द ख स व यत त पर वत य व क स पर षद ल ह
  • क म ग क द खत ह ए भ रत सरक र न लद द ख स व यत त पर वत य व क स पर षद लद द ख ऑट न मस ह ल डवलपम ट क उन स ल क गठन क य यह पर षद स म त स व यत तत क
  • इन व ᠎ न श न अन स ध न पर षद भ रत क सबस बड व ज ञ न तथ प र द य ग क अन स ध न एव व क स स स थ न ह ह ल क इसक व त त य प रब धन भ रत सरक र क व ज ञ न एव
  • श क ष पर षद अ ग र ज न शनल क उन स ल ऑफ ट चर स एड य क शन, लघ NCTE भ रत सरक र क एक स स थ ह ज सक स थ पन र ष ट र य श क षक श क ष पर षद अध न यम
  • भ रत य आय र व ज ञ न अन स ध न पर षद आई.स एम.आर नई द ल ल भ रत म ज व - च क त स अन स ध न ह त न र म ण, समन वय और प र त स हन क ल ए श र ष स स थ ह
  • लद द ख स व यत त पह ड व क स पर षद भ रत क उत तरतम र ज य जम म एव कश म र क लद द ख क ष त र क पड स ज ल द अलग - अलग प रश स न क य क इ ग त कर सकत
  • क न द र य म नव स स धन व क स मन त र न एक य जन स मन रख थ ज सम व श वव द य लय अन द न आय ग और अख ल भ रत य तकन क श क ष पर षद क बन द करक उनक स थ न
                                     
  • न र म ण उद य ग ख त व क स प रकल प ग र मव क स य जन र जग र प रश क षण उपक रम सम म लन म तय ह आ क प रस त व त स गठन क न म व श व ह द पर षद ह ग और 1966 क
  • और ग र म ण प र द य ग क व क स पर षद Council for Advancement of People s Action and Rural Technology CAPART कप र ट भ रत क एक स व यत त स स थ ह
  • लद द ख स व यत त पर वत य व क स पर षद ल ह लद द ख ऑट न मस ह ल डवलपम ट क उन स ल, ल ह LAHDC एक स व यत त पह ड पर षद ह ज सक अध न भ रत क उत तरतम र ज य जम म
  • ल ए तकन क श क ष क व क स नव च र स क य, अन स ध न और व क स क बढ व द न स ब ध य जन ओ क म ध यम स क र य न व त करत ह पर षद 21 सदस य व ल क र यक र
  • व श वव द य लय एव द रश क ष प रण ल क समन वय एव व क स क ल य तथ उनक म नक क स थ पन क ल य उत तरद य ह इस पर षद क स थ पन इ द र ग ध र ष ट र य म क त
  • भ रत य स स क त क स ब ध पर षद इ ड यन क उ स ल फ र कल चरल र ल श स - आईस स आर भ रत सरक र क स वत त र स गठन ह ज सक स थ पन म ह ई थ इस स स थ
  • भ रत य र ष ट र य स वद श क ग र स पक ष भ रत य व क स प र ट भ रत स जन भ रत य सम ज दल भ रत सर वदर श पर षद भ रत य श रम क दल भ रत य स र ज य म च भ रत य स त ज
  • प र व त तर पर षद एनईस भ रत क प र व त तर क ष त र क आर थ क और स म ज क व क स क ल ए बन एक ब न य द स स थ ह इसक स थ पन स सद य अध न यम क तहत भ रत क क न द र
  • ब र ड क प र व अध यक ष ह और अब वह अ तरर ष ट र य क र क ट पर षद क उप ध यक ष ह पर षद क एक व क स क र यक रम ह क सदस य द श म क च ग, अ प यर ग और ख ल
  • तत व वध न म गठ त भ रत और अफग न स त न क ब च रणन त क भ ग द र पर षद क द व त य ब ठक 11 स तम बर, 2017 क नई द ल ल म आय ज त क गई भ रत क व द श म त र
                                     
  • प र प त आठ र ज य भ ह इन आठ र ज य क आर थ क और स म ज क व क स क ल ए 1971 म प र व तर पर षद न र थ ईस टर न क उ स ल NEC क गठन एक क न द र य स स थ
  • पर वर त त कर द य आज, भ रत व श व क म मल म एक प रम ख आव ज क स थ, एक प रम ख व श व शक त ह और स य क त र ष ट र स रक ष पर षद म स थ य स ट ह त प रय सरत
  • क प रत वह स सद य श सन म शक त म त र पर षद क प स ह त ह ज व ध य क क प रत उत तरद य ह त ह 2. भ रत क व व धत क द खत ह ए स सद य श सन ज य द
  • ह ल क य दक ष ण आ चल क पर षद क व श ष आम त र त म ह वर तम न म प रत य क क ष त र य पर षद क स रचन न म न न स र ह भ रत र ज य और क द र श स त
  • पर षद अ ग र ज न शनल क उन स ल ऑफ एड य क शनल र सर च एण ड ट र न ग, लघ NCERT अ ग र ज National Council of Educational Research and Training भ रत सरक र
  • भ रत य इत ह स अन सन ध न पर षद Indian Council for Historical Research भ रत क म नव स स धन व क स म त र लय क एक स व यत त स स थ ह इसक क र य इत ह स स
  • र जग र तथ आर थ क एव स म ज क प रगत एव व क स क बढ व द ग व गत दशक म स य क त र ष ट र स रक ष पर षद तथ अ तरर ष ट र य म द र क ष एव व श व ब क
  • र ष ट र य उत प दकत पर षद न शनल प र डक ट व ट क उन स ल र उ.प. भ रत सरक र क उद य ग म त र लय द व र सन 1958 म स थ प त स व यत तश स बह पक ष य
  • स तर पर ल न व यवस थ त, समन वय और व क स और प र न नत करन ह त भ रत वर ष क एक श र षस थ स स थ ह यह अन स ध न पर षद - श स न क य द व र श स त ह ज सक

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →