ⓘ बड़वा जागा और भाट इन तीनों जातियों को राव जी और बड़वा जी भी कहते हैं और मुख्य रूप से राजस्थान मध्यप्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़ आदि राज्यों में निवास करती है यह जात ..

                                     

ⓘ बड़वा

बड़वा जागा और भाट इन तीनों जातियों को राव जी और बड़वा जी भी कहते हैं और मुख्य रूप से राजस्थान मध्यप्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़ आदि राज्यों में निवास करती है यह जाति राजपूत और जाट व अन्य प्रमुख समाज के वंशावली लेखन का कार्य करती है।

भारत में राजपूत और अन्य जातियों का इतिहास और उनकी वंशावली बड़वा द्वारा लिखी गयी, राजपूत में सभी वंश के अलग बड़वा होते जो उनके खानदान का इतिहास लिखते हैं और उनके पास रखते हैं। बडवा सबसे उच्च कोटि के होते हैं। ये केवल राजवंश का ही वंश लेख करते हैं।

                                     

1. तोमर/तंवर राजपूत के बड़वा

तंवर बड़वा के गांव

  • बड़वा जी का वास सोंदड़ तहसील लालसोट जिला दौसा -गाँव तोमर वंश के जगा वंशावली लेखक श्री गोपी सिंह का निवास ग्राम है, इनके तीन पुत्र कुंवर मदन सिंह, कुंवर सरवन सिंह, कुंवर जुवराज सिंह हैं

देवी सिंह बड़वा-बत्तीसी के

  • शाहपुरा के पास
  • डाबला, सीकर
  • आसलपुर गांव, जयपुर
  • जोबनेर, जयपुर
                                     
  • ग ग र ग ट क द य न ओर स थ त ह इसक न र म ण म व ड क म त र अमर च द बड व न व शत ब द म करव य थ इस लगभग कमर ह ज सम कई आध न क और
  • ब झ त ह जबक शहर क श न बढ त ह र ग स गर झ ल क न र म ण मह र ज अमर स ह बड व न ईस व म करव य थ इस क रण इस झ ल क अमरक ट भ कहत ह यह झ ल
  • ज न ज त ह प मल जन मभ म शहर पन र, त ज ज क कर मभ म त ज ज मह र ज क सस र ल, बड व क छतर झ झर य त ल ब प मल उद य न आद स थ न व द यम न ह
  • व प र वज क आक त य बन कर क य ज त ह लख ड जब च त रक र करत ह बड व व उसक स थ प रम पर क ग त ग त रहत ह प थ र च त रकल म अध कतर च त रण
  • स मन त थ म खर व श क ल ग उत तर प रद श क कन न ज म तथ र जस थ न क बड व क ष त र म त सर सद म फ ल ह ए थ म खर व श क श सक क उत तर ग प त
                                     
  • कह ज त ह सर व च च पद पर आस न ज प ज र ध र म क अन ष ठ न करव त ह उस बडव य अध यक ष प ज र कहत ह स म न यत: लख ड क स न ह त ह इस च त रकल
  • भ ल जनज त म ख यत द स वर ग म ब ट ह - उजल भ ल और म ल भ ल म ल भ ल बड व बस व ग म त, क टव ल य च धर तथ क थ ड ग त र सम ह म व भक त ह
  • स मन त थ म खर व श क ल ग उत तर प रद श क कन न ज म तथ र जस थ न क बड व क ष त र म त सर सद म फ ल ह ए थ म खर व श क श सक क उत तर ग प त
  • ज ञ न श वर व शत ब द क समय स आत ह प ढरप र क म ख य म द र म बड व पर व र क ब र ह मण प ज र प ज - व ध करत ह इस प ज म प च द न क स स क र
  • ब झ त ह जबक शहर क श न बढ त ह र ग स गर झ ल क न र म ण मह र ज अमर स ह बड व न ईस व म करव य थ इस क रण इस झ ल क अमरक ट भ कहत ह यह झ ल
  • मह न द रगढ क ग र स 20 द व न द र क म र ब सल प चक ल क ग र स 21 ओमप रक श बड व ल ह र इन ल 22 धर मप ल, र व ब दश हप र क ग र स 23 रव द र म छर ल सम लख

शब्दकोश

अनुवाद