ⓘ समाज और संस्कृति. साहित्य कुछ ताजगी और मन प्रेरक के लिए लिखा है कि इसका मतलब है। यह विचारों और महान दिमाग के भावनाओं को रिकॉर्ड करता है। यह दो मायनों में आकर्षि ..

                                     

ⓘ समाज और संस्कृति

साहित्य कुछ ताजगी और मन प्रेरक के लिए लिखा है कि इसका मतलब है। यह विचारों और महान दिमाग के भावनाओं को रिकॉर्ड करता है। यह दो मायनों में आकर्षित करती - इसकी बात के माध्यम से और के माध्यम से अपने तरीके से। ऐसी है कि जो लोग इसे पढ़ा कुछ रास्ते में रुचि रखते हैं इस मामले होना चाहिए। तरीके से इस तरह पाठक के लिए मनभावन हो जाएगा और ज्ञान के अपने कोष को जोड़ता है के रूप में होना चाहिए।

हम एक ऐसे समाज में रहते हैं। कि है, वहाँ संबंधों और पुरुषों के लिए जो समाज में जीने के बीच अन्तर सम्बन्दि हैं। हम हमारे साथी पुरुष जो समाज, उनके विचारों और भावनाओं को, अपनी पसंद में रहते हैं और नापसंद के बारे में सुनना पसंद है।

य२दि हम भावनाओं को व्यक्त करने के लिए भाषा की शक्ति है, स्वाभाविक रूप से, हम रास्ते में अच्छी तरह से कर रहे हैं बनाने के साहित्य के लिए। दूसरे शब्दों में, साहित्य की विषय-वस्तु समाज या अन्य किसी रूप में है। कवि अपनी भावना व्यक्त करता है और हम उनकी कविता पढ़ें जो रुचि रखते हैं और लगता है और उसे खुद के साथ एक पर। सब के बाद, आदमी और आदमी है कि कवि या लेखक चाहता है संचार के माध्यम से के बीच फैलोशिप की इस बॉण्ड समाज है।

यदि साहित्य सामाजिक सहानुभूति व्यक्त करता है, स्वाभाविक रूप से यह हमारे मन और रवैये पर कुछ सकारात्मक प्रभाव व्यायाम करने के लिए बाध्य है। समाज के प्रति प्रतिक्रिया करता साहित्य में एक जीवित करने के लिए तरीका है। एक प्रेरक कविता समाज पर सामान्य प्रभाव पैदा करता है। यह हमारी भावनाओं और कल्याण के लिए उत्साह रोउसेस।

शेली कवियों अनुत्तरित विधायकों मानव जाति का आह्वान किया है। एक विधायक का कार्य कानून, कार्रवाई की है कि पुरुषों का पालन कर सकते हैं की एक बसे पाठ्यक्रम नीचे रखना करने के लिए है। काव्य और साहित्य आम तौपर यह एक शांत और विनीत रास्ते में करते हैं। उपन्यास मानव मन की दिशा बदल गया है और कि जीवन के हमारे तरीके बदल दिया है मोशन आंदोलनों में सेट करने के लिए जाना जाता है।

साहित्य का प्रभाव समाज पर सीधे या परोक्ष रूप से महसूस किया है। इस प्रकार के स्तोव"अंकल टॉम केबिन साहित्य में गुलामी और उन दिनों के संयुक्त राज्य अमेरिका में जीवन के खिलाफ एक आंदोलन के लिए सीधे जिम्मेदार था। समाज में एक लग रहा है बनाने में एक अप्रत्यक्ष प्रभाव पड़ा डिकेंस के उपन्यास को विनियमित करने और आवश्यक सुधारों के लिए बुला रहे सामाजिक गलतियों, को हटाने के लिए।

शरतचंद्र के उपन्यास हमारे समाज में महिलाओं का संबंध रूढ़िवादिता को तोड़ने में एक लंबा रास्ता चला गया है। यह है, तथापि, स्पष्ट है कि यदि हम साहित्य में रुचि रखते हैं और इसका प्रभाव हमारे कथन ले जाने के लिए बाध्य है। साहित्य जीवन की विद्या से बाहर कर दिया है। कोई संदेह नहीं है, यथार्थवादी कलाकार के लिए एक फोकस कुछ विषमताएं और जीवन के पुनर्प्रचारित पहलुओं उस से भी ज्यादा अलाता। लेकिन केवल उज्ज्वल पक्ष पर भी जीवन के जोड़दाऔर अंधेरे पक्ष जीवन पूरी तरह से पता करने के लिए, है जाना जा करने के लिए।

इस प्रकार, साहित्य समाज बनाता है। यह समाज के आईने के रूप में वर्णित किया जा सकता। लेकिन गुणवत्ता और प्रतिबिंब का स्वभाव मन, के लेखक के रवैये पर निर्भर करता है कि क्या वह अपने आउटलुक या प्रतिक्रियावादी में प्रगतिशील है।

स्वाभाविक रूप से, सामाजिक जीवन, जो परंपरागत तरीके से जीवन का सबसे अच्छा संभव रास्ते में डाल के उन पहलुओं लेखक कंजर्वेटिव दिमाग तनाव होगा। उदाहरण के लिए, वह श्रद्धा के सदियों पुराने आदर्शों के लिए पर एक उच्च मान सेट और इतने पर के लिए धर्म औरत की शुद्धता का सम्मान करेंगे। दूसरी ओर, एक प्रगतिशील लेखक को दिखाने के लिए देते हैं जाएगा कैसे पुराने आदर्शों मानव मन की स्वाभाविक आजादी पर मजबूरी के रूप में कार्य, आदमी और अप्रतिबंधित माहौल मुक्ति नए आदर्शों और चलती समाज कि आगे जीवन के नए तरीकों के लिए लगता है के लिए सेट करें, में महिलाओं की मुक्त आवाजाही पंगु।

                                     
  • ह भ रत य स स क त व श व क इत ह स म कई द ष ट य स व श ष महत त व रखत ह यह स स र क प र च नतम स स क त य म स एक ह भ रत य स स क त कर म प रध न
  • म नत ह आर य सम ज वस ध व क ट बकम क म नत ह ल क न भ म डल करण क द श, सम ज और स स क त क ल ए घ तक म नत ह आर य सम ज व द क सम ज रचन क न र म ण
  • प र व - सम क ष त अर धव र ष क पत र क ह इसक प र न म प रत म न समय सम ज स स क त ह इसक प रध न स प दक अभय क म र द ब एव स प दक आद त य न गम, रव क त
  • त रह पर भ तर स सम ज धर म और स स क त म एक कठ र व यवस थ क त न ब न ब न रह थ त त र क और अघ रप थ य क उदय क स थ म थ न और मद र क उस प रक र
  • ब द लख ड क व क टक क प र व और म र य क ब द क ब द ल सम ज श ग व श, न गव श, स तव हन, व क रम द त य, शक, क ष ण, नवन ग आद श सक क अध नत म रह
  • च बल, ब तव और क न आद नद य स घ र ह आ ह और प र च न क ल म प रस द ध मध यप रद श क एक अ ग थ ब द लख ड क आद म न व स य र उनक स स क त क स वर प
  • स स क त क स सम ज म गहर ई तक व य प त ग ण क समग र न म ह ज उस सम ज क स चन व च रन क र य ध त क करन स बन ह इस ध त स त न शब द बनत
  • शब द ह इस ल म स स क त ह इस ल म स स क त स य क त र प स अरब ईर न त र क म ग ल य भ रत, मल ईय ई और इ ड न श यन स स क त य क म श रम ह च क
  • क स स क त सम द ध और अनन य ह इसक स स क त क व र सत शत ब द य स क रमश व कस त ह ई ह न प ल क स स क त पर भ रत य, त ब बत और म ग ल स स क त य क
  • ल क स स क त ह ल क स स क त कभ भ श ष ट सम ज क आश र त नह रह ह उलट श ष ट सम ज ल क स स क त स प र रण प र प त करत रह ह ल क स स क त क एक
  • ज त य स म लकर ज स सम ज क रचन क वह आर य अथव ह न द ओ क ब न य द सम ज ह आ और आर य तथ आर य तर स स क त य क म लन स ज स स क त उत पन न ह ई, वह
                                     
  • ब ह र क स स क त भ जप र म थ ल मगह त रह त तथ अ ग स स क त य क म श रण ह नगर तथ ग व क स स क त म अध क फर क नह ह नगर म भ ल ग
  • आच र - व च र, रहन - सहन द रव ड क ह अत: इस क ल म ब द लख ड क सम ज और स स क त म द प रब व लक ष त क ए ज सकत ह आर य स स क त और द रव ड स स क रत
  • वर गव ह न सम ज Classless society स त त पर य ऐस सम ज स ह ज सम क स भ व यक त क जन म क स स म ज क वर ग social class म नह ह त वर गव ह न सम ज म
  • studies अध ययन क वह क ष त र ह ज सम यह अध ययन क य ज त ह क सम ज र जन त एव स स क त क स तरह स व ज ञ न क अन सन ध न एव प र द य ग क नव च र क क स प रक र
  • म म ल स स क त क आध न क ज वनश ल क स ग बड स दरत क स थ स ज य ह ए ह भ रत क उत क ष टतम शहर म ग न ज न व ल लखनऊ क स स क त म भ वन ओ
  • कर द य ज ए व र त ग स व म ग स ई सम ज एक भ रत य स स क त स ज ड सम ज ह इस दसन म ग स ई ग स व म सम ज क न म स भ ज न ज त ह क य क इसम
  • क चन द ल क ल न सम ज और स स क त म ब द ल श सन क प र रम भ ह न क ब च एक ऐस स ध क ल ब द लख ड म आत ह ज सक स स क त और सम ज क च त रण स ह त य
  • कर द य स स क त क हम र सम ज स ल प त ह कर ह न द एव अन य भ ष ओ म बदलन बड ह अज ब ह ऐस लगत ह क ह द एव अन य भ ष ऐ स स क त क त ड मर ड
  • जनज त य ह ख स ग र और जयन त य प रत य क जनज त क अपन स स क त अपन परम पर ए पहन व और अपन भ ष ह म घ लय क अध क श ल ग और प रध न जनज त य म त व श य
  • च क ह वह स चन - सम ज क षत र य र वत र जप त सम ज व क स म डल म बई मह र ष ट र information society कहल त ह स चन क उत प दन, व न मय और उपभ ग क इर द - ग र द
  • शत क आरम भ म पह च वह भ आर य सम ज न भ रत य क अपन स स क त एव व र सत पर गर व करन क श क ष द और स म ज क स ध र एव श क ष क प रस र क

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →