ⓘ मुरासोली मारन भारत के प्रमुख तमिल राजनेता और द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम दल के एक महत्वपूर्ण नेता थे जिसके अध्यक्ष उनके मामा एवं परामर्शदाता एम.करुणानिधि हैं। वे 36 ..

                                     

ⓘ मुरासोली मारन

मुरासोली मारन भारत के प्रमुख तमिल राजनेता और द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम दल के एक महत्वपूर्ण नेता थे जिसके अध्यक्ष उनके मामा एवं परामर्शदाता एम.करुणानिधि हैं। वे 36 वर्षों से संसद के सदस्य हैं। उन्हें तीन अलग-अलग केंद्रीय सरकारों में केन्द्रीय मंत्री, वी.पी. सिंह सरकार में शहरी विकास का प्रभारी, देवगौड़ा और गुजराल सरकारों में उद्योग मंत्री एवं अंत में वाजपेयी के नेतृत्व में वाणिज्य और उद्योग मंत्री, बनाया गया। एक राजनेता होने के अतिरिक्त, मारन एक पत्रकाऔर फिल्मों के पटकथा लेखक भी थे।

                                     

1. प्रारंभिक जीवन

16 अगस्त 1934 को जन्मे, मुरासोली मारन शन्मुगा सुंदरम के पुत्र थे। उनका जन्म थिरुक्कुवलाई ग्राम थिरुवरुर-तमिलनाडु में पन्नीरसेल्वम में हुआ। अपने गृह शहर में अपनी बुनियादी शिक्षा पूरी करने के बाद वे पंचैयप्पा कॉलेज और लॉ कॉलेज, मद्रास से कला में स्नातकोत्तर की उपाधि एम.ए. प्राप्त करने के लिए मद्रास के लिए अग्रसर हुए. राजनीति में शामिल होने से पहले श्री मारन ने एक पत्रकार के रूप में काम किया एवं बाद में एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में सेवा की. मद्रास में अपने छात्र जीवन के समय से ही वे डी.एम.के. द्रमुक के साथ घनिष्ठता से जुड़े थे। 15 सितम्बर 1963 को उन्होंने मल्लिका से शादी की और उनके दो पुत्र एवं एक पुत्री है। उनके छोटे पुत्र दयानिधि मारन केन्द्रीय मंत्री एवं उनके बड़े पुत्र कलानिधि मारन लोकप्रिय टीवी नेटवर्क सन टी वी के प्रमुख एवं मालिक हैं।

वे तमिलनाडु में हिन्दी शुरू किये जाने के मुखरित विरोधी थे और इसके लिए हिन्दी विरोधी आन्दोलनों के दौरान अपने लेखों के लिए उन्हें 1965 में गिरफ्ताकर लिया गया। आपातकाल के दौरान आतंरिक सुरक्षा अधिनियम के पालन के तहत उन्हें एक वर्ष के लिए हिरासत में रखा गया।

                                     

2. पत्रकार के रूप में कैरियर

मुरासोली मारन ने चेन्नई से प्रकाशित होने वाले तमिल भाषा के एक दैनिक अखबार को संपादित किया। वे अंग्रेजी भाषा के एक साप्ताहिक द राइजिंग सन के एक संपादक भी थे। द राइजिंग सन को www.therisingsun.in पर ऐक्सेस किया जा सकता है। उन्होंने तमिल भाषा में कुन्गुमन, मुथ्थरम, वन्नाथिरई एवं सुमंगली प्रकाशित किया।

                                     

3. फिल्में

मुरासोली मारन ने तमिल में बीस से अधिक फिल्मों के लिए पटकथा और संवाद प्रदान किया। उन्होंने तमिल में पांच फिल्मों का निर्माण किया है एवं दो फिल्मों का निर्देशन किया है।

संगीत नाटक अकादमी ने 1975 में उन्हें कलाई-ममानी की उपाधि प्रदान की. तीन सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्मों के लिए उन्हें राष्ट्रपति का मेधा प्रमाणपत्र एवं तमिलनाडु सरकार के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

                                     

4. दोहा में प्रमुख योगदान

मारन का एक प्रमुख योगदान डब्ल्यूटीओ WTO के दोहा दौर में जीG7 देशों द्वारा डब्ल्यूटीओ WTO नियमों को लागू करने के विरुद्ध खड़े होने के लिए सभी विकासशील देशों को एक मोर्चे के रूप में संगठित करना था। इन डब्ल्यूटीओ WTO विश्व व्यापार संगठन के नियमों का उद्देश्य विकसित देशों को लाभ पहुंचाना और विकासशील देशों को दरिद्र बनाना था। मारन ने सफलतापूर्वक और बलपूर्वक विकासशील देशों के एक संयुक्त मोर्चे का निर्माण किया एवं सफलतापूर्वक जीG7 को कोई शर्त लागू करने से रोका.

                                     

5. उनके द्वारा ग्रहण किये गए पद

  • 1999 - 2002: केंद्रीय कैबिनेट मंत्री, उद्योग
  • 1980-1982 और 1991 - 1995: सदस्य, लोक लेखा समिति
  • 1992-1993: प्रतिभूतियों और बैंकिंग संबंधी लेनदेनों में अनियमितताओं की जांच करने के लिए बनी संयुक्त संसदीय समिति के सदस्य
  • 1998: लोकसभा बारहवीं के लिए चौथी बार निर्वाचित
  • 1977-1995: सदस्य, राज्य सभा
  • 1996 - 1998: केंद्रीय कैबिनेट मंत्री, उद्योग
  • 1999: लोकसभा तेरहवीं के लिए पांचवीं बार निर्वाचित
  • 1980-1982: सदस्य, सामान्य प्रयोजन समिति
  • 1982-1983 और 1987 - 1988: अनुसूचित जनजाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण समिति के सदस्य
  • 1996: लोकसभा ग्यारहवीं के लिए तीसरी बार निर्वाचित
  • 1971: लोकसभा के लिए पुनः निर्वाचित हुए.
  • 1977-1995: राज्य सभा के एक सदस्य के रूप में वे तीन पदावधियों के लिए लोक उपक्रम समिति के सदस्य थे।
  • 1989 - 1990: केंद्रीय कैबिनेट मंत्री, शहरी विकास
  • 1988-1989: सदस्य, अधीनस्थ विधान समिति
  • 1967: लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए

एक संसद सदस्य के रूप में उनकी योग्यता को एमए M.A. एमपी M.P. के रूप में पढ़ा जाएगा. एमए पंचयप्पा कॉलेज में उनकी कला की उपाधि थी। एमपी MP उनके संसद सदस्य होने को सूचित करता है।

                                     

6. मृत्यु

मुरासोली मारन का 23 नवम्बर 2003 को चेन्नई के अपोलो अस्पताल में निधन हो गया। वे कई सप्ताहों तक गहरी बेहोशी कोमा की अवस्था में थे। अपोलो अस्पताल में इलाज से पहले, 14 नवम्बर 2002 को, ह्रदय की बीमारी हाइपरट्रॉफिक कार्डियोमायोपैथी=HTCM=HCM एवं गुर्दे से संबंधित कष्टों के लिए उन्हें ह्यूस्टन,टेक्सास के मेथोडिस्ट अस्पताल में भर्ती कराया गया। उनकी मृत्यु के समय वे भारत सरकार के बिना विभाग के कैबिनेट मंत्री थे। प्रधानमंत्री वाजपेयी और नेताओं के एक समूह ने चेन्नई में उनके अंतिम संस्कार में भाग लिया। जयललिता ने अपने कैबिनेट मंत्रियों को शामिल नहीं होने के लिए कहा. राज्य के लोक सचिव टी. पितचंडी, तमिलनाडु सरकार की ओर से प्रतिनिधि के रूप में अंतिम संस्कार में उपस्थित होने वाले एकमात्र व्यक्ति थे।

                                     
  • भ तप र व व ण ज य म त र म र स ल म रन क प त र, तम लन ड क म ख य म त र एम कर ण न ध क परप त और भ रत क कपड म त र दय न ध म रन क भ ई ह 1991 म
                                     
  • प न स न गम और इलइज ञइन उन ह न 10 अगस त 1942 क म र स ल क आरम भ क य अपन बचपन म व म र स ल न मक एक म स क अखब र क स स थ पक स प दक और प रक शक
  • डब लय ट ओ. क म त र स तर य ब ठक, म भ रत क व ण ज य म त र श र म र स ल म रन न ह म मत क स थ, भ रत क जनत क पक ष रख उन ह न स वद श ज गरण म च

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →