ⓘ प्रबंधन लेखांकन या प्रबंधकीय लेखांकन संगठनों के भीतर प्रबंधकों के लिए लेखांकन जानकारी के उन प्रावधानों तथा उपयोग से संबंधित है, जो उन्हें सुविज्ञ प्रबंधन निर्णय ..

                                     

ⓘ प्रबंधन लेखांकन

प्रबंधन लेखांकन या प्रबंधकीय लेखांकन संगठनों के भीतर प्रबंधकों के लिए लेखांकन जानकारी के उन प्रावधानों तथा उपयोग से संबंधित है, जो उन्हें सुविज्ञ प्रबंधन निर्णयों को लेने के लिए एक आधार प्रदान करता है जो उन्हें उनके प्रबंधन तथा नियंत्रण कार्यों को बेहतर तरीके से करने की अनुमति देगा।

वित्तीय लेखांकन की जानकारी के विपरीत, प्रबंधन लेखांकन जानकारी:

  • वित्तीय लेखांकन मानकों की बजाय, इसकी गणना प्रबंधकों की आवश्यकताओं के अनुसार की जाती है, जिसके लिए अक्सर प्रबंधन सूचना प्रणालियों का उपयोग किया जाता है।
  • सार्वजनिक रूप से रिपोर्ट किये जाने के बजाय, यह आमतौपर गोपनीय होती है और प्रबंधन द्वारा इसक
  • ऐतिहासिक की बजाय यह भविष्य-परक होती है;
  • को संगठन के भीतर प्रबंधकों द्वारा उपयोग के इरादे से डिजाइन किया गया है, जबकि वित्तीय लेखांकन जानकारी को शेयरधारकों और ऋणदाताओं द्वारा उपयोग करने के लिए बनाया गया है।

यह विभिन्‍न प्रभावों के कारण है: प्रबंधन लेखांकन जानकारी का उपयोग, आमतौपर निर्णय लेने के लिए संगठन के भीतर किया जाता है।

                                     

1. चार्टर्ड इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एकाउन्टेंट्स सीआईएमए के अनुसार, प्रबंधन लेखांकन "प्रबंधन द्वारा किसी निकाय के भीतर योजना बनाने, आंकलन करने तथा नियंत्रण के लिए इस्तेमाल की जाने वाली जानकारी की पहचान, माप, संचय, विश्लेषण, तैयारी, व्याख्या और संचार की प्रक्रिया तथा अपने संसाधनों के उचित उपयोग और जवाबदेही को सुनिश्चित करना है। प्रबंधन लेखांकन में शेयरधारकों, कर्जदाताओं, नियामक एजेंसियों और कर अधिकारियों जैसे गैर-प्रबंधन समूहों के लिए वित्तीय रिपोर्ट की तैयारी" भी शामिल है सीआईएमए आधिकारिक शब्दावली।

दी अमेरिकन इंस्टिट्यूट ऑफ़ सर्टिफाइड पब्लिक एकाउन्टेंट्स एआइसीपीइ के अनुसार, अभ्यास के रूप में प्रबंधन लेखांकन का विस्तार निम्नलिखित तीन क्षेत्रों तक है:

  • प्रदर्शन प्रबन्धन -व्यापारिक निर्णय-निर्माण और संगठन के प्रदर्शन के प्रबंधन के लिए अभ्यास का विकास करना।
  • जोखिम प्रबन्धन -प्रबंधन और संगठन के उद्देश्यों की उपलब्धि के लिए पहचान करने, मापने और जोखिमों की रिपोर्टिंग करने के लिए रूपरेखा और अभ्‍यासों के लिए योगदान करना।
  • रणनीतिक प्रबन्धन - संगठन में प्रबंधन लेखाकार की भूमिका का एक रणनीतिक भागीदार के रूप में संवर्धन करना।

द इस्‍टिच्‍यूट ऑफ सर्टिफायड मैनेजमेंट एकाउंटेंट्स ICMA के अनुसार, "एक प्रबंधन लेखाकार अपने ज्ञान और कुशलता को वित्तीय और अन्य निर्णय उन्मुख जानकारी की तैयारी और प्रस्तुति करे इस प्रकार लागू करता है कि प्रबंधन को नीतियों के निर्माण और उपक्रम की कार्रवाई की योजना और नियंत्रण में सहायता प्राप्त हो." इसलिए प्रबंधन लेखाकारों को लेखाकारों के बीच "मान-रचनाकारों के रूप में देखा जाता है। वे व्‍यवसाय के ऐतिहासिक रिकॉर्डिंग और अनुपालन scorekeeping के आयामों की तुलना में दूरदर्शिता और संगठन के भविष्‍य को प्रभावित करने वाले निर्णयों को लेने में अधिक रूचि लेते हैं। इसलिए प्रबंधन लेखा ज्ञान और संगठन के अंदर विविध क्षेत्रों और कार्यों से प्राप्त किया जा सकता है, जैसे, सूचना प्रबंधन, कोष, दक्षता लेखा परीक्षा, विपणन, मूल्यांकन, मूल्य निर्धारण, रसद, आदि।

                                     

2. पारम्परिक बनाम नवोन्‍मेषी अभ्यास

1980 के दशक के उत्तरार्ध में, लेखांकन पेशेवरों और शिक्षकों की इस आधापर व्‍यापक आलोचना की गई कि व्‍यावसायिक वातावरण में तीव्र परिवर्तनों के बावजूद, प्रबंधन लेखांकन अभ्‍यासों ने और इससे भी आगे, लेखांकन के छात्रों को पढ़ाया गया पाठ्यक्रम पिछले 60 सालों में थोड़ा परिवर्तन किया था। व्‍यावसायिक लेखा संस्थानों ने शायद इससे डर कर कि प्रबंधन लेखाकार तेजी से व्यापार संगठनों में ज़रूरत से ज़्यादा के रूप में देखे जाएंगें, बाद में प्रिबंधन लेखांकनों के लिए अधिक नवोन्‍मेष कुशलता सेट के विकास के लिए पर्याप्त संसाधनों को समर्पित किया।

पारंपरिक और नवोन्‍मेष प्रबंधन लेखांकन अभ्‍यासों के बीच अंतर को लागत नियंत्रण तकनीकों के लिए संदर्भ द्वारा रेखांकित किया जा सकता है। लागत लेखा प्रबंधन लेखांकन में केंद्रीय पद्धति है और परंपरागत रूप से, प्रबंधन लेखाकारों की प्रमुख तकनीक भिन्‍नता विश्लेषण, था, जो कच्‍चे माल और उत्पादन अवधि के दौरान उपयोग किगए श्रम के वास्‍तविक और बजट किगए लागतों की तुलना के प्रति व्‍यवस्‍थित दृष्‍टिकोण है।

हालांकि भिन्‍नता विश्लेषण के कुछ प्रकारों का उपयोग अभी भी अधिकांश निर्माता फ़र्मों द्वारा किया जाता है। इन दिनों यह नवोन्‍मेषी तकनीकों के संयोजन में उपयोग किए जाने को प्रवृत दिखाई देता है, जैसे जीवन चक्र लागत विश्लेषण और गतिविधि-आधारित लागत, जो मष्तिष्‍क में आधुनिक व्‍यावसायिक वातावरण के निर्दिष्ट आयामों के साथ डिजाइन किया गया है। जीवन चक्र लागत की मान्यता है कि किसी उत्पाद के निर्माण की लागत को प्रभावित करने के प्रबंधकों की योग्यता तब व्‍यापक हो जाती है जब उत्पाद जब तक अपने जीवन चक्र के डिजाइन की अवस्‍था में होता है यानि, डिजाइन को अंतिम रूप दिए जाने और उत्पादन प्रारंभ होने के पहले, क्‍योंकि उत्पाद डिज़ाइन में लघु परिवर्तन उत्‍पाद निर्माण की लागत में महत्‍वपूर्ण बचत का नेतृत्व कर सकता है। गतिविधि-आधारित लागत एबीसी की मान्‍यता है कि, आधुनिक कारखानों में, अधिकांश निर्माण लागत गतिविधियों के परिमाण द्वारा निर्धारित किए जाते हैं अर्थात, प्रति माह चलने वाले उत्पादन की संख्‍या और उत्पादन उपकरण आदर्श समय का परिमाण और इसलिए, प्रभवी लागत नियंत्रण की कुंजी इन गतिविधियों की कुशलता को अनुकूलित करना है। गतिविधि-आधारित लेखांकन कारण और प्रभाव लेखांकन के रूप में भी जाना जाता है।

जीवन चक्र लागत और गतिविधि-आधारित लागत दोनों ही, विशिष्‍ट आधुनिक कारखाने में, यह मान्‍यता देते हैं कि विघटनकारी घटनाओं से बचाव जैसे मशीन की विफलता और गुणवत्ता नियंत्रण विफलताएं कच्‍चे माल की लागत को कम करने उदाहरण के लिए की तुलना में अधिक व्‍यापक महत्ता का है। गतिविधि-आधारित लागत वाहक के रूप में प्रत्‍यक्ष श्रम का प्रभाव भी कम करता है और लागत को वहन करने वाली गतिविधियों के बजाय ध्‍यान केंद्रित करता है, जैसे सेवा का प्रावधान या उत्पाद घटक का उत्पादन.

                                     

3. निगम के भीतर भूमिका

आज निगम में अन्य भूमिकाओं के अनुरूप, प्रबंधन लेखाकारों के पास दोहरे रिपोर्टिंग संबध हैं। रणनीतिक भागीदाऔर निर्णय आधारित वित्तीय और कार्यकारी सूचना के प्रदाता के रूप में, प्रबंधन लेखाकार व्‍यावसायिक टीम के प्रबंधन और उसी समय निगम के वित्तीय संगठन के संबंधों और जिम्मेदारियों को रिपोर्ट करने के लिए जिम्‍मेदार है।

गतिविधियों के प्रबंधन लेखाकार पूर्वानुमान और योजना, भिन्‍न विश्‍लेषण के प्रदर्शन, समेत व्‍यवसाय में लागत की निगरानी और समीक्षा वह हैं जिन्‍हें वित्त और व्‍यावसायिक टीम दोनों की दोहरी जिम्‍मेदारी है। ऐसे कार्यों के उदाहरण, जहां जिम्‍मेदारी व्‍यावसायिक प्रबंधन टीम बनाम कॉरपोरेट वित्त विभाग के लिए अधिक अर्थपूर्ण हो सकता है, वे हैं, नए उत्पाद लागत का विकास, कार्यवाहियों का शोध, व्‍यावसायिक वाहक मैट्रिक्स, विक्रय प्रबंधन स्‍कोरकार्ड और क्‍लाएंट लाभदायिकता विश्‍लेषण है इसके विपरीत, कुछ वित्तीय रिपोर्ट की तैयारी, स्रोत व्‍यवस्‍था के वित्तीय आंकडों के सामंजस्‍य, जोखिम और नियामक रिपोर्टिंग कॉरपोरेट वित्त टीम के लिए अधिक उपयोगी होंगे क्‍योंकि वे निगम के सभी खंडों की एकीकृत निश्‍चित वित्तीय जानकारी के साथ परिवर्तित होते हैं। लेखांकन और वित्त कैरियर मार्ग की प्रगति को देखते हुए एक व्‍यापक दृश्‍य यह माना जाता है कि वित्तीय लेखांकन प्रबंधन लेखांकन के लिए एक महत्‍वपूर्ण कदम है। मूल्य सृजन की धारणा के अनुरूप, प्रबंधन लेखाकार कठिन वित्तीय लेखांकन को अनुपालन और ऐतिहासिक प्रयास से अधिक होने पर भी व्‍यवसाय की सफलता को वहन करने में मदद करते हैं।

वैसे निगमों में, जो अपने अधिकांश लाभों को सूचना अर्थव्वस्था से संचालित करते हैं, जैसे बैंक, प्रकाशन गृहों, दूरसंचार कंपनियां और सुरक्षा संविदाकार, सूचना तकनीक लागत अनियंत्रित व्‍यय के ऐसे महत्‍वपूर्ण स्रोत हैं जो आकार में प्राय: कुल क्षतिपूर्ति लागत और संपत्ति संबंधी लागतों के बाद सबसे व्‍यापक कॉरपोरेट लागत हैं। ऐसे संगठनों में प्रबंधन लेखांकन का कार्य सूचना तकनीक विभाग सूचना तकनीक लागत पारदर्शिता के साथ निकटता से कार्य करना है।

                                     

3.1. निगम के भीतर भूमिका एक वैकल्पिक दृश्य

प्रबंधन लेखांकन का एक अत्यंत अल्‍प अभिव्‍यक्त वैकल्‍पिक विचार यह है कि संगठनों में यह न तो तटस्‍थ या सौम्य प्रभाव है, बल्‍कि निगरानी के माध्‍यम से प्रबंधन नियंत्रण के लिए तंत्र है। यह विचार विशेष रूप से प्रबंधन नियंत्रण सिद्धांत के संदर्भ में प्रबंधन लेखांकन का पता लगाता है। भिन्‍न रूप से कहा जाए तो, प्रबंधन लेखांकन सूचना वह तंत्र है जिसका उपयोग प्रबंधकों द्वारा संगठन में अपने नियंत्रण कार्यों को सरल बनाने के लिए संगठन के संपूर्ण आंतरिक संरचना के परिदृश्‍य के वाहन के रूप में उपयोग किया जाता है।

                                     

4.1. विशिष्ट अवधारणाएं Grenzplankostenrechnung GPK

ग्रेंज्प्लान्कोस्तेंरेच्नुंग जीपीके Grenzplankostenrechnung GPK) एक जर्मन लागत पद्धति है, जो 1940 और 1950 के दशक के उत्तरार्ध में विकसित, किसी उत्पाद या सेवा के लिए प्रबंधकीय लागतों को कैसे परिकलित और असाइन किया जाता है, के लिए अनुरूप और परिशुद्ध अनुप्रयोग प्रदान करने के लिए डिजाइन किया गया है। ग्रेंज्प्लान्कोस्तेंरेच्नुंग Grenzplankostenrechnung शब्द, जिसे अक्सर जीपीके GPK कहा जाता है, को श्रेष्‍ठ रूप में या तो आंशिक नियोजित लागत लेखा या लचीला विश्ल्‍ोषण लागत नियोजन और लेखांकन के रूप में अनुवाद किया गया है

जीपीके GPK की उत्‍पत्ति का श्रेय एक ऑटोमेटिव इंजिनियर हंस जॉर्ज प्‍लॉट और एक शिक्षाविद वूफगैंग किल्‍गर को है, जो लागत लेखांकन सूचना को शुद्ध और उन्‍नत करने के लिए डिजाइन किगए जारी पद्धति को पहचानने और वितरित करने के पास्‍परिक लक्ष्‍य के प्रति कार्यरत हैं। GPK लागत लेखांकन की पाठ्यपुस्‍तकों में प्रकाशित किया गया है, विशेष रूप से, Flexible Plankostenrechnung und Deckungsbeitragsrechnun और जर्मन-भाषी विश्‍वविद्यालयों में आज पढ़ाया जाता है।

                                     

4.2. विशिष्ट अवधारणाएं कमजोर लेखांकन कमजोर उद्यम के लिए लेखांकन

1990 के मध्‍य से उत्तरार्ध में, कमजोर उद्यम टोयोटा उत्पादन प्रणाली के तत्वों को क्रियान्‍वित कर रही कंपनियां में लेखांकन के बारे में कई पुस्‍तकें लिखी गईं। कमजोर लेखांकन शब्द इसी अवधि के दौरान गूंजा. इन पुस्‍तकों ने यह विरोध किया कि पारंपरिक लेखांकन पद्धतियां व्‍यापक उत्पादन के लिए बेहतर अनुकूल हैं और अच्‍छे व्‍यावसायिक अभ्‍यासों में समय पर निर्माण और सेवाओं का समर्थन या माप नहीं करती हैं। डियरबॉर्न, एमआई Dearborn MI में 2005 के दौरान कमजोर लेखा शिखर सम्मेलन एक शीर्ष बिंदु पर पहुंच गया। 320 व्‍यक्तियों ने इसमें भाग लिया और कमजोर उद्यम में लेखांकन के नए दृष्‍टिकोण की विशेषताओं पर चर्चा की। 520 व्यक्तियों ने 2006 में 2सरे वार्षिक सम्मेलन में भाग लिया।

                                     

4.3. विशिष्ट अवधारणाएं संसाधन उपभोग लेखांकन RCA

संसाधन उपभोग लेखांकन मूल रूप से एक गतिशील, पूर्ण एकीकृत, सिद्धांत-आधारित और व्‍यापक प्रबंधन लेखांकन दृष्‍टिकोण है जो प्रबंधकों को उद्यम अनुकूलन के लिए निर्णय समर्थन सूचना प्रदान करता है। आरसीए RCA 2000 के आसपास एक प्रबंधन लेखांकन दृष्टिकोण के रूप में उभरा और बाद में दिसंबर 2001 में कॉस्‍ट मैनेजमेंट सेक्‍शन आरसीए इटरेस्‍ट ग्रुप Cost Management Section RCA interest group में उन्नत विनिर्माण के लिए इंटरनेशनल- कंसोर्टियम-सीएएम-1 CAM-I में एक विकसित हुआ। व्‍यावहारिक केस अध्‍ययन और अन्‍य शोध के माध्‍यम से सावधानी पूर्वक दृषटिकोण को अगले सात सालों तक परिशुद्ध और सत्‍यापित करने में व्‍यतीत करने के बाद, रूचि रखने वाले शिक्षाविदों और अभ्‍यासकारों के एक समूह ने सार्वजनिक सुलभता के लिए RCA को परिचित कराने के लिए आरसीए इंस्‍टीच्‍यूट RCA Institute की स्‍थापना की और अनुशासित अभ्‍यासों को प्रोत्‍साहित करने के द्वारा प्रबंधन लेखांकन ज्ञान के मानक को उजागर किया।

                                     

4.4. विशिष्ट अवधारणाएं थ्रुपुट Throughput लेखांकन

सबसे महत्वपूर्ण, प्रबंधकीय लेखांकन में नवीनतम निर्देशन throughput लेखांकन है, जो आधुनिक उत्पादन प्रक्रियाओं की अंतनिर्भरताओं की पहचान करता है। किसी भी दिगए उत्पाद, ग्राहक या आपूर्तिकर्ता के लिए, यह एक सीमित संसाधन के प्रति यूनिट योगदान को मापने का उपकरण है।

                                     

4.5. विशिष्ट अवधारणाएं हस्तान्तरण मूल्य निर्धारण

प्रबंधन लेखांकन विभिन्न उद्योगों में उपयोग किया गया लागू अनुशासन है। उद्योग पर आधारित विशिष्‍ट कार्य और पालन किगए सिद्धांत भिन्न हो सकते हैं। बैंकिंग में प्रबंधन लेखांकन सिद्धांत विशेषीकृत हैं, लेकिन उपयोग किगए कुछ सामान्य बुनियादी अवधारणाएं नहीं हैं कि उद्योग निर्माण आधारित या सेवा उन्‍मुख है या नहीं। उदाहरण के लिए, हस्तांतरण मूल्य निर्धारण विनिर्माण में उपयोग किया एक अवधारणा है, लेकिन यह बैंकिंग में भी लागू होता है। यह एक मौलिक सिद्धांत है जो विभिन्न व्यावसायिक इकाइयों को मूल्य और राजस्व प्राप्ती में उपयोग किया जाता है। आवश्‍यक रूप से, बैंकिंग में हस्तांतरण मूल्य निर्धारण विभिन्न कोष स्रोतों और उद्यम के उपयोग के लिए बैंक ब्‍याज दर जोखिम को असाइन करने की विधि है। इस प्रकार, बैंक का कॉर्पोरेट कोष विभाग बैंक द्वारा ग्राहकों को कर्ज देते पर बैंक के संसाधनों के उपयोग के लिए व्‍यावसायिक इकाइयों के लिए धन देने पर शुल्‍क लेगा। राजकोष विभाग भी उन व्यवसायिक इकाइयों के लिए ऋण के लिए धन देगा जो बैंक में जमाएं संसाधन लाते हैं। हालांकि धन हस्तांतरण मूल्य निर्धारण प्रक्रिया मुख्य रूप से विभिन्‍न बैंकिंग इकाइयों के कर्जों और जमाओं पर लागू होते होने योग्‍य है, यह पूर्व सक्रियता व्‍यावसायिक खंड की सभी सभी परिसंपत्तियों और देनदारियों लागू होती है। एक बार मूल्य निर्धारण हस्तांतरण के लागू होने और किसी भी अन्य प्रबंधन लेखांकन प्रविष्टियों या समायोजनों को जो आम तौपर ज्ञापन खाते हैं और कानूनी निकाय परिणामों को शामिल नहीं करते हैं बही में दर्ज होने के बाद, व्यापार इकाइयां खंड के उन वित्तीय परिणामों को देने में सक्षम होती हैं जो प्रदर्शन के मूल्‍यांकन के लिए आंतरिक और बाहरी उपयोगकर्ताओं द्वारा उपयोग की जाती हैं।

                                     

5. संसाधन और सतत जानकारी

चालू रखने और प्रबंधन लेखांकन में एक ज्ञान आधार को बनाने के लिए जारी रखने के लिए कई तरीके हैं। प्रमाणित प्रबंधन लेखाकारों CMAS की आवश्‍यकता प्रत्‍येक साल जारी शिक्षा को प्राप्त करने के लिए हैं जो प्रमाणित सार्वजनिक लेखाकार के समान है। एक कंपनी के पास कॉरपोरेट के स्‍वामित्‍व वाले पुस्‍तकालय में उपयोग के लिए उपलब्ध शोध और प्रशिक्षण सामग्री हो सकती है। यह उन फॉर्च्यून 500 कंपनियों में अधिक सामान्‍य है जिनके पाइस प्रकार के प्रशिक्षण माध्‍यम को धन देने के लिए संसाधन हैं।

वहाँ भी कई पत्रिकाओं, ऑन लाइन आलेख और उपलब्ध ब्लॉग्स हैं। लागत प्रबंधन Cost Management और इंस्‍टीच्‍यूट ऑफ मैनेजमेंट एकाउंटिंगआईएमए Institute of Management Accounting के साइट ऐसे स्रोत हैं जो प्रबंधन लेखंकन त्रैमासिक और सामरिक वित्त प्रकाशनों को शामिल करते हैं। वास्‍तव में, प्रबंधन लेखांकन की आवश्‍यकता प्रत्येक संगठन को है।

                                     

6. प्रबन्ध लेखांकन कार्य/ प्रदान की गई सेवाएं

निम्ना सूचीबद्ध कार्य/सेवाएं प्रबंधन लेखांकन द्वारा किगए प्राथमिक कार्य हैं। इन गतिविधियों के सापेक्ष जटिलता का स्तर अनुभव स्तर और किसी व्याक्ति की योग्यताओं पर निर्भर हैं।

  • लागत-मात्रा-लाभ विश्लेषण
  • बिक्रय प्रबंधन स्कोरकार्ड्स
  • लागत विश्लेषण
  • आईटी लागत पारदर्शिता
  • खरीद बनाम लीज़ विश्लेषण
  • ग्राहक लाभप्रदता विश्लेषण
  • बिक्री और वित्तीय पूर्वानुमान
  • उत्पाद लाभप्रदता
  • पूंजी बजटिंग
  • भौगोलिक बनाम उद्योग या ग्राहक रिपोर्टिंग अनुभाग
  • आंतरिक वित्तीय प्रस्तुति और संचार
  • संसाधनों का आवंटन और उपयोग
  • जीवन चक्र लागत विश्लेषण
  • लागत आवंटन
  • रणनीति योजना
  • रणनीति प्रबंधन सलाह
  • लागत लाभ विश्लेषण
  • व्यापार मेट्रिक्स विकास
  • भिन्‍नता विश्लेषण
  • वार्षिक बजटिंग
  • दर और माप विश्लेषण
  • मूल्य मॉडलिंग
                                     

7. सम्बन्धित योग्यताएं

लेखांकन के क्षेत्र में निम्न सहित कई संबंधित व्यारवसायिक योग्यताएं और प्रमाणीकरण हैं:

  • आईसीएमए
  • आईसीडब्लूएआई
  • प्रबंधन लेखांकन योग्यताएं
  • सीआईएमए
  • सीएमए
  • चार्टर्ड एकाउंटेंट, सीए
  • अन्य व्यावसायिक लेखांकन योग्यतायें
  • अमेरिकन इंस्टिट्यूट ऑफ़ सर्टिफाइड पब्लिक एकाउंटेंट्स
  • सर्टिफाइड पब्लिक एकाउंटेंट, सीपीए
  • चार्टर्ड सर्टिफाइड एकाउंटेंट, एसीसीए
  • सर्टिफाइड प्रेक्टिसिंग एकाउंटेंट सीपीए ऑस्ट्रेलिया
                                     
  • एकत र करण, व श ल षण, म ल य कन एव स क ष पण क ल गत ल ख कन Cost accounting कहत ह इसक लक ष य प रबन धन क यह बत न ह क ल गत क दक षत क आध र पर क न
  • फर म क न ष पक षत स वत त रत और जन - ज गर कत म व द ध क द खत ह ए एव ल ख कन म नक ज क पन य क व त त य व स तव कत प रदर श त करत ह इन सबन नए न यम
  • च क इनक स ब ध ल ख कन स ह त ह ल क न रणन त व त त य प रब धन क क न द र अलग ह त ह रणन त व त त य प रब धन म व त त य ल ख कन क र प र ट पर क न द र त
  • भ रत म ल ख कन क इत ह स भ रत क व द स ज नक र म लत ह क व श व क ल ख कन क ज ञ न भ रत न द य अथर व द म व क रय शब द ह ज सक मतलब सल स ह त
  • आप र त श खल प रब धन SCM अ तरसम बद ध व य प र क न टवर क क प रब धन ह ज क ग र हक द व र अप क ष त चरम उत प द व यवस थ और स व स क ल म श म ल
  • क ए गए आक रमण क क रण ह सकत ह अन क ज ख म प रब धन म नक व कस त क य गए ह ज नम पर य जन प रब धन स स थ न, र ष ट र य व ज ञ न एव प र द य ग क स स थ न
  • ल ख कन और व त त म इक व ट सभ द यत ओ क भ गत न करन क ब द, पर स पत त य म न व श करन व ल सबस छ ट वर ग क न व शक क अवश ष ट द व य ब य ज
  • पर वर तन प रब धन सहय ग, प रश क षण क शल क व क स, प र द य ग क क र य न वयन, रणन त व क स, य पर च लन त मक स ध र स व ए भ प रद न कर सकत ह प रब धन सल हक र
  • अ तर र ष ट र य ल ख कन म नक ब र ड IASB द व र अपन ए गए म नक, प रत प दन और र पर ख ह IFRS क गठन क कई म नक अ तर र ष ट र य ल ख कन म नक IAS क प र न
  • क र यस थल क शल प रब धन प रश क षण और व क स क र म क प रश सन मजद र य व तन म म आवज समय प रब धन य त र प रब धन कभ - कभ HRM क बज य ल ख कन क स पन व तन
                                     
  • ब एसब ए प रब धन म प रम ख ब एसब ए व पणन प रब धन म प रम ख ब एसब ए ल ख ल ख कन प र द य ग क उद यमश लत आत थ य प रब धन ज नक र क प रब धन अचल स पत त
  • पर एक प सवर ड य ल ख कन स रक ष क प रय जन प रव श क ल ए अन य क र ड श यल स क स थ स वय क प रम ण त करन क ल ए और स स धन प रब धन आवश यक ह उपय गकर त
  • व त त य प रब धन व त त य क र य न वयन क ल ए स म न य प रब धन क स द ध त क ग द ल न म श म ल ह न म नल ख त उपस थ त क र य न वयन और व त त य ल ख कन ल गत
  • counseling, guidance, research, 09929895334 स गठन त मक अध ययन म स स धन प रब धन आवश यकत न स र स घठन त मक स स धन क दक ष और प रभ व व क स ह इस तरह क
  • ए ल वल क ल ए आग बड उन ह न 1981 म अहमद ब ल व श वव द य लय स ल ख कन म अपन पहल ड ग र प र प त क ज सक ब द उन ह न एमब ए क ल ए ओल ब स
  • आउटस र स ग ह - ज सम आ तर क व य प र क र य ज स म नव स स धन य व त त और ल ख कन श म ल ह और फ र ट ऑफ स front office आउटस र स ग outsourcing ज सम
  • श म ल ह उत प द ज वन - चक र प रब धन आप र त श र खल प रब धन उद क रय, व न र म ण और व तरण ग द म प रब धन ग र हक स ब ध प रब धन स आरएम ब क र आद श प रस स करण
  • प ठ यक रम छ त र क व य प र क व भ न न क ष त र ज स ल ख कन व पणन, म नव स स धन, अभ य न प रब धन आद स पर चय करव न क ल ए त य र क ए गए ह क छ व यवस य
  • च त क एक क ष त र ह क क य ल ख कन फर म, ज स फर म क वह ल ख - पर क ष कर रह ह उसक ल ए स वत त र ल ख - पर क षक और प रब धन सल हक र, द न क र प म क र य
  • ज ञ न प रबन धन क अन तर गत व स र क र य आत ह ज स स थ ओ द व र ज ञ न क पहच नन उसक स जन करन उस सम यक र प स प रदर श त करन तथ उसक व तरण स
                                     
  • स कम एक सदस य क प स ल ख कन य स ब ध त व त त य प रब धन व श षज ञत ह न जर र ह अपन न यम त सत र क अल व ब र ड क प रब धन क ब न अत र क त सत र
  • श म ल ह उत प द ज वन - चक र प रब धन आप र त श र खल प रब धन उद क रय, व न र म ण और व तरण ग द म प रब धन ग र हक स ब ध प रब धन स आरएम ब क र आद श प रस स करण
  • व श षकर ल ख और ल ख पर क ष क प र य ग क व यवह र क र प म प रब धन पर मर श और न ष प दन प रब धन कर क उपक रम और य जन उद यम क ल ए प ज क छ CPAs सर वस म न य
  • य एस GAAP ल ख कन म डल 2005 म क फ हद तक बदल गय क य क FAS123 स श ध त प रभ व ह न लग आमत र पर ज न 2005 स पहल प रभ व म ल ख कन क स द ध त
  • म ल य वह म ल य ह ज क पन क छ ट, प रच र और अन य प र त स हन र श क ल ए ल ख कन क ब द ह स ल ह त ह म ल य व यवस थ व क र त क सभ उत प द प रस त त य
  • व श वव द य लय म छ त र स स ब ध त ड ट क कई अन य जर रत क प रब धन करत ह इस छ त र स चन प रब धन प रण ल स ट ड ट इन फ र म शन म न जम ट स स टम एसआईएमएस
  • इन ह भ द ख क र प र ट द र पय ग, क र प र ट अपर ध. रचन त मक ल ख कन आय प रब धन भ र मक व त त य व श ल षण. इनस इडर ट र ड ग, प रत भ त य म ध ख धड
  • म क क ज ए ड क पन एक व श व क प रब धन स ब ध त पर मर शद त फर म ह ज वर ष ठ प रब धन स स ब ध त म द द क स लझ न पर ध य न क द र त करत ह म क क ज
  • स पर य प त आय क अप क ष कर सकत ह स - ड ट न टवर क प रब धन प रण ल स एनएमएस न टवर क प रब धन सम ध न क श र ण स एनएमएस क एक ह स स ह स एनएमएस
                                     
  • स प रय ग श ख ह ज व य प र प रब धन क स थ ज ड ह आ ह यह 1950 क दशक क श र आत वर ष म अस त त व म आय जब व यवस य प रब धन क व यवह र क म द द और व य प र

शब्दकोश

अनुवाद

परबधनलखकनकअवधरण अवधरण वतयऔरहदमपरबधनलखकनबचकअतर परबधनलखकनकउददशय नटस परबधकय परबधकयलखकनकमहतव परबधकऔरवतयलखकनबचकअतर लखकन कैरियर और तकनीकी शिक्षा. प्रबंधन लेखांकन वशषतए अतर परबधकयलखकनकवशषतए एकउ मजमएकउगनटसइनहद परबधनलखकन परबधन महतव परबधनऔरवतयलखकनकबचअतर उददशय परबधक प्रबंधन लेखांकन प्रबंधकीय लेखांकन के महत्व वित्तीय लेखांकन और हिंदी में प्रबंधन लेखांकन के बीच का अंतर मैनेजमेंट एकाउंटिंग नोट्स इन हिंदी प्रबंधकीय लेखांकन की विशेषताएं प्रबंधन लेखांकन और वित्तीय लेखांकन के बीच अंतर प्रबंधकीय लेखांकन और वित्तीय लेखांकन के बीच का अंतर प्रबंधन लेखांकन की अवधारणा प्रबंधन लेखांकन के उद्देश्य

Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →