• पूर्वी तिमोर के राष्ट्रपति

    पूर्वी तिमोर के राष्ट्रपति, आधिकारिक तौपर डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ तिमोर लेस्टे के अध्यक्ष, पूर्वी तिमोरमें राज्य के प्रमुख हैं, जो लोकप्रिय द्वारा चुने गए है...

  • द हैंगओवर पार्ट II

    द हैंगओवर पार्ट II 2011 की अमेरिकी कॉमेडी फिल्म है, जो लीजेंडरी पिक्चर्स द्वारा निर्मित और वार्नर ब्रदर्स द्वारा वितरित की गई है । चित्र । यह है अगली कड़ी 20...

  • अमेरिकन पाई 2

    अमेरिकन पाई 2 एक 2001 की अमेरिकी सेक्स कॉमेडी फिल्म है, जिसका निर्देशन जेम्स बी रोजर्स ने किया है और जिसे हर्ज़ की एक कहानी से एडम हर्ज़ और डेविड एच। स्टाइनब...

  • खड़गपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन

    खड़गपुर जंक्शन 1898-99 में चालू किया गया था। एक तरफ, बंगाल नागपुर रेलवे का खड़गपुर- कटक लाइन 1899 में नए वर्ष के दिन चालू किया गया था। दूसरी ओर, 19 अप्रैल 19...

  • मवि किबाकी

    मवि किबाकी, CGH जन्म 15 नवंबर 1931 केन्याई राजनेता हैं जो केन्या के तीसरे राष्ट्रपति थे, जो दिसंबर 2002 से अप्रैल 2013 तक सेवा करते रहे। किबाकी पूर्व में 197...

  • शेर जंग थापा

    ब्रिगेडियर शेर जंग थापा, एमवीसी 15 अप्रैल 1907 - 25 फरवरी 1999 भारतीय सेना अधिकारी थे। द हीरो ऑफ़ स्कार्डू के रूप में सम्मानित थे। यह लेफ्टिनेंट कर्नल के पद ...

संसदीय विशेषाधिकार

संसदीय विधेषधिकार, उन कुछ विशेषाधिकारों को कहा जाता है जिनका, संसदों और राष्ट्रीय विधायिकाएं, दुनिया भर में विशिष्ट रूपसे आनंद लेते हैं, जो उनके अधिकार, स्वतंत्रता और गरिमा को बनाए रखने के लिए डिज़ाइन किगए हैं। इन विशेषाधिकारों की स्थापना विभिन्न देशों में मुख्य रूप से विधि, रीति-रिवाज अथवा संवैधानिक अनुच्छेद के आधापर की जाती है। समय पर जहाँ कुछ की पुष्टि की गई है, वहीँ अन्य गौण हो चुके विशेषाधिकारों को कानूनन समाप्त किया जाता रहा है। संसदीय विशेषाधिकारों का मूल उद्देश्य विधायकों को अपने विधायी कर्तव्यों के दौरान किगए कार्यों या बयानों के लिए नागरिक या आपराधिक दायित्व से प्रतिरक्षित रखना है। वेस्टमिंस्टर प्रणाली से प्रभवित शासन व्यवस्थाओं में ऐसा विशेषाधिकार सबसे विशिष्ट रूप से पाया जाता है, जहाँ यह संकल्पना, प्राचीन संसदीय रीति-रिवाज़ से अंग्रेजी संसद में उबरी थी।

1. अवलोकन
संसदीय विशेषाधिकारों का मूल उद्देश्य विधायकों को अपने विधायी कर्तव्यों के दौरान किगए कार्यों या बयानों के लिए नागरिक या आपराधिक दायित्व से प्रतिरक्षित रखना है। हालाँकि विभिन्न देशों में क़ानून के अनुसार, संसदीय विशेषाधिकार भिन्न हो सकते हैं, अथवा विशेअशाधिकारों पर सीमाएँ अलग हो सकती हैं, मगर मोटे तौरपर निम्न बिंदुओं को हर देश में पाया जाता है:
न्यायिक प्रतिरक्षण: सामान्यतः सांसदों को विभिन्न स्तर पर न्यायिक उत्तरदायित्व से भी प्रतिरक्षण प्राप्त होता है, विशेषकर संसदीय सत्र की दौरान अदालती समन और न्यायिक मामलों में छूट होती है। हालाँकि देशद्रोह और आपराधिक मामलों को इस विशेषाधिकार के दायरे के बहार रखा जाता है।
अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता: सांसदों द्वारा संसद में कहे गए किसी भी बात पर संसद के अलावा किसी भी अदालत या अन्य संसथान में सवाल नहीं पूछा जा सकता। विधायकों को संसद में कुछ भी कहने पे सम्पूर्ण न्यायिक प्रतिरक्षण होता है।

2. यूनाइटेड किंगडम इन्हें भी देखें: यूनाइटेड किंगडम की संसद
ब्रिटिश संसद के दोनों सदनों के ऊपर कुछ प्राचीन विशेषाधिकार निहित और संरक्षित हैं। दोनों सदनों द्वारा दावा किया गया सबसे महत्वपूर्ण विशेषाधिकार है बहस में बोलने की स्वतंत्रता: सदन में कही गयी किसी भी बात पर संसद के बाहर किसी भी अदालत या अन्य संस्था में पूछताछ नहीं किया जा सकता है। एक और विशेषाधिकार है गिरफ्तारी से स्वतंत्रता: पूर्वतः, सभी सांसद राजद्रोह, गुंडागर्दी या शांति भंग करने को छोड़कर किसी भी कानूनी अपराध के लिए गिरफ्तारी से प्रतिरक्षा थे लेकिन अब आपराधिक आरोपों को भी इस विशेषाधिकार के दायरे से बाहर कर दिया गया है। यह प्रतिरक्षा संसदीय सत्र के दौरान और सत्र के 40 दिन पहले या बाद तक लागू रहता है। दोनों सदनों के सदस्यों को अब ज्यूरी पर सेवा से विशेषाधिकार प्राप्त नहीं है।
दोनों सदनों के पास अपने विशेषाधिकार के उल्लंघन को दंडित करने की शक्ति भी है। संसद की अवमानना- उदाहरण के लिए, किसी समिति द्वारा जारी किगए एक उप-सदस्य की अवज्ञा- को भी दंडित किया जा सकता है। हाउस ऑफ लॉर्ड्स किसी भी व्यक्ति को किसी भी निश्चित अवधि के लिए कारावास में डाल सकता है, लेकिन हाउस ऑफ कॉमन्स द्वारा कारावास में भेजे गए व्यक्ति को छूट पर मुक्त किया जा सकता है। दोनों सदनों में से किसी के द्वारा भी लगागए दंड को किसी भी अदालत में चुनौती नहीं दी जा सकती है, यहाँ तक कि मानवाधिकार अधिनियम भी इनपर लागू नहीं होता है।
ये अधिकार किसी विधि या संधि के ज़रिये नहीं आते हैं, हाउस ऑफ लॉर्ड्स द्वारा संप्रभु से मिले निहित अधिकार के आधापर इन विशेषाधिकारों का दावा किया जाता है। जबकि हाउस ऑफ कॉमन्स को यह अधिकार हाउस ऑफ लॉर्ड्स से मिलता है, जिसकी पुष्टि, प्रतिवर्ष कॉमन्स के सभापति लॉर्ड्स की स्वीकृति द्वारा किया करते हैं। प्रत्येक नई संसद की शुरुआत में सभापति लॉर्ड्स कक्ष में जाकर निचले सदन के "निस्संदेह" विशेषाधिकारों और अधिकारों की पुष्टि करने के लिए संप्रभु के प्रतिनिधियों से अनुरोध कर यह अधिकार प्राप्त करते हैं। यह परंपरा राजा हेनरी अष्टम के ज़माने से चली आ रही है।

3. भारत इन्हें भी देखें: भारतीय संविधान एवं भारत की संसद
भारतीय विधि में संसदीय विशेषाधिकार का प्रावधान वेस्टमिंस्टर प्रणाली के प्रभाव से है, जिसके आधापर भारतीय विधायी प्रक्रिया आधारित है। भारतीय संविधान संघ और राज्य दोनों स्तरों पर, विधायिका के सदनों के कामकाज की स्वतंत्रता के लिए प्रावधान प्रदान करता है। संविधान का अनुच्छेद 105 संसद के सदनों के विशेषाधिकारों से संबंधित है और अनुच्छेद 194 राज्य विधानमंडल के सदनों के विशेषाधिकारों से संबंधित है। दोनों अनुच्छेदों की शब्दावली सामान्य है। भारतीय संविधान का अनुच्छेद 105 इस प्रकार है:
20 जून, 1979 को लागू हुए संविधान के चव्वालिसवें संशोधन तक, विशेषाधिकारों को उसी तरह से कहा गया था जैसा कि इस संविधान के प्रारंभ होने से ठीक पहले हाउस ऑफ कॉमन्स द्वारा किया गया था।

4. संयुक्त राज्य अमेरिका
हालाँकि संयुक्त राज्य में एक संसदीय प्रणाली के बजाय अध्यक्षीय प्रणाली मौजूद है, फिरभी, अमेरिकी वीडियो के अंतर्गत अमेरिकी कांग्रेस क्र सदस्यों के लिये भी संसदीय विशेषाधिकार के सामान अधिकार पाए जाते हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका का संविधान का अनुच्छेद एक में मौजूद भाषण या वाद-विवाद का खंड, कांग्रेस-सदस्यों को संसदीय विशेषाधिकार के समान विशेषाधिकार प्रदान करता है। साथ ही कई अमेरिकी राज्य अपने राज्य विधायिकाओं के लिए समान प्रावधान प्रदान करते हैं।

शेर जंग थापा

ब्रिगेडियर शेर जंग थापा, एमवीसी 15 अप्रैल 1907 - 25 फरवरी 1999 भारतीय सेना अधिकारी थे। द हीरो ऑफ़ स्कार्डू के रूप में सम्मानित थे। यह लेफ्टिनेंट कर्नल के पद ...

मवि किबाकी

मवि किबाकी, CGH जन्म 15 नवंबर 1931 केन्याई राजनेता हैं जो केन्या के तीसरे राष्ट्रपति थे, जो दिसंबर 2002 से अप्रैल 2013 तक सेवा करते रहे। किबाकी पूर्व में 197...

शाहिद वसीफ

शाहिद वासिफ एक हांगकांग के क्रिकेटर हैं। वह दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं और राइट आर्म ऑफ ब्रेक गेंदबाज हैं। उन्होंने 5 सितंबर 2016 को आयरलैंड के खिलाफ ट्वेंटी 20...

केनेथ वैस्वा

केनेथ वैसवा एक युगांडा के क्रिकेटर हैं। अप्रैल 2018 में, मलेशिया में 2018 आईसीसी विश्व क्रिकेट लीग डिवीजन चार टूर्नामेंट के लिए उन्हें युगांडा के दस्ते में न...

जहीर इब्राहिम

ज़हीर इब्राहिम एक कतरी क्रिकेटर हैं। उन्हें दक्षिण अफ्रीका में 2017 आईसीसी विश्व क्रिकेट लीग डिवीजन फाइव टूर्नामेंट के लिए कतर की टीम में नामित किया गया था। ...

दुर्गादित मुहुमुजा

दुर्गादित मुहुमुजा एक युगांडा क्रिकेटर है। उन्होंने 2014 क्रिकेट विश्व कप क्वालीफायर टूर्नामेंट में युगांडा के लिए खेला। अप्रैल 2018 में, मलेशिया में 2018 आई...

चार्ल्स वैसवा

चार्ल्स वैसावा एक युगांडा के क्रिकेटर हैं जिन्होंने 2005 में आयरलैंड में आईसीसी ट्रॉफी खेली थी। उन्होंने इंग्लैंड के किलामर्ष जूनियर्स क्रिकेट क्लब में नॉटिं...

फ्रेड अचेलम

फ्रेड एचलम एक युगांडा क्रिकेटर है। अप्रैल 2018 में, मलेशिया में 2018 आईसीसी विश्व क्रिकेट लीग डिवीजन चार टूर्नामेंट के लिए उन्हें युगांडा के दस्ते में नामित ...

खड़गपुर जंक्शन रेलवे स्टेशन

खड़गपुर जंक्शन 1898-99 में चालू किया गया था। एक तरफ, बंगाल नागपुर रेलवे का खड़गपुर- कटक लाइन 1899 में नए वर्ष के दिन चालू किया गया था। दूसरी ओर, 19 अप्रैल 19...

अमेरिकन पाई 2

अमेरिकन पाई 2 एक 2001 की अमेरिकी सेक्स कॉमेडी फिल्म है, जिसका निर्देशन जेम्स बी रोजर्स ने किया है और जिसे हर्ज़ की एक कहानी से एडम हर्ज़ और डेविड एच। स्टाइनब...

द हैंगओवर पार्ट II

द हैंगओवर पार्ट II 2011 की अमेरिकी कॉमेडी फिल्म है, जो लीजेंडरी पिक्चर्स द्वारा निर्मित और वार्नर ब्रदर्स द्वारा वितरित की गई है । चित्र । यह है अगली कड़ी 20...

अग्निवेशतंत्र संहिता

अग्निवेश या वह्रिवेश आयुर्वेदाचार्य थे जिन्होंने अग्निवेशतंत्र संहिता की रचनाकी। अग्निवेश, पुनर्वसु आत्रेय के सबसे अधिक प्रतिभाशाली शिष्य थे। इनके अन्य सहपाठ...

मोहद्दीसुल हरमैन सैय्यद मोहम्मद बिन अलवी मालिकी

जन्म मोहद्दिसुल हरमैन सैय्यद मोहम्मद बिन अल्वी मालिकी अलैहे रहमा मक्का मोअज़्ज़मा सऊदी अरब में साल 1367 हिजरी 1945 ई० में पैदा हुए! आप एक सुन्नी आलिम ए दीन थ...

कल्पेश कोली क्रिकेट टूर्नामेंट

कल्पेश कोली क्रिकेट टूर्नामेंट भारत के महाराष्ट्र मे एक क्रिकेट प्रतियोगिता है जिसमे १६ से कम उम्र खिलाड़ी भाग लेते हैं। यह टूर्नामेंट न्यू हिंद स्पोर्टींग क...

पूर्वी तिमोर के राष्ट्रपति

पूर्वी तिमोर के राष्ट्रपति, आधिकारिक तौपर डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ तिमोर लेस्टे के अध्यक्ष, पूर्वी तिमोरमें राज्य के प्रमुख हैं, जो लोकप्रिय द्वारा चुने गए है...