इस्लामी गणतंत्र ईरान की सरकार

इस्लामी गणतंत्र ईरान की सरकार among its supporters) 1979 में इस्लामी क्रांति और पाहलवी राजवंश के पतन के बाद से ईरान में सत्ता पर काबिज राज्य और वर्तमान राजनीतिक व्यवस्था है।
जनमत संग्रह द्वारा अपनाया गया इसका संविधान,कार्यकारी, विधायी और न्यायिक प्रणालियों के साथ शक्तियों के मॉडल को अलग करने का उपयोग करता है, जबकि सर्वोच्च नेता देश का प्रमुख और सशस्त्र बलों का कमांडर-इन-चीफ होता है।
यह वर्तमान में इस्लामी गणतंत्र शीर्षक का उपयोग करने वाली चार सरकारों में से एक है।

ईर न क इस ल म क क र त फ रस इन क ल ब - ए - इस ल म सन 1979 म ह ई थ ज सक फलस वर प ईर न क एक इस ल म क गणर ज य घ ष त कर द य गय थ इस क र त
इस ल म गणर ज य शब द क इस त म ल क य ईर न न ईर न क र त क ब द और अफग न स त न न 2001 म त ल ब न सरक र सम प त क ब द अपन न म क स थ इस ल म गणर ज य
ईर न क भ उसक फल भ गतन पड 1930 और 40 क दशक म रज श ह पहलव न स ध र क पहल क 1979 म इस ल म क क र त ह ई और ईर न एक इस ल म क गणत त र घ ष त
इजर इल सम बन ध क दर र ईर न क इस ल म क र त क ह न और ईर न म र जश ह श सन क पतन ह न म ल क रण थ ईर न क इस ल म क र त क ब द ईर न इजर इल सम बन ध
ईर न म धर म क स वत त रत ईर न स स क त प रम ख धर म और र जन त द व र च ह न त ह ईर न आध क र क र प स और एक इस ल म गणत त र ह - ईर न क इस ल म क
इस ल म जम ह र य प क स त न اسلامی جمہوریہ پاکستان य प क स त न इस ल म गणत त र य स र फ प क स त न भ रत क पश च म म स थ त एक इस ल म गणर ज य ह
स र य उत तर म त र क और प र व म ईर न क र द स त न प र त ईर न अवस थ त ह दक ष ण पश च म क द श म यह फ रस क ख ड स भ ज ड ह दजल नद और
स मन करन पड उसन यह क र जक म र र क स न स श द भ क पर य द ध म उस बह त फ यद नह ह आ स क दर क ब द ईर न क प र थ यन तथ स स न स म र ज य
भ रत य गणत त र म इस ल म क ब र म ह भ रत क व य पक पर भ ष क ल ए दक ष ण एश य म इस ल म क द ख भ रत य गणत त र म ह न द धर म क ब द इस ल म द सर
सद म अरब न यह पर इस ल म क न व ड ल ईर न क स म न स म र ज य न अरब क भग द य और समरकन द तथ ब ख र क स थ पन क य द न शहर अब उज ब क स त न
ह इसक अ तर गत 451 दलदल स थल तथ 3, 256 ख र प न क झ ल ह प र व म र स और ईर न दक ष ण क ओर इर क, स र य तथ भ मध यस गर, पश च म म ग र स और
क र ग ज स त न, आध क र क त र पर क र ग ज गणत त र मध य एश य म स थ त एक द श ह च र तरफ जम न और पह ड य स घ र इस द श क स म उत तर म कज ख स त न, पश च म

क गणत त र इस ल म क स द ध त पर आध र त ह अन च छ द न कहत ह क एक ग र म स ल म म लद व क न गर क नह बन सकत नम बर दस कहत ह इस ल म क क स
अरब और ईर न क म लनक द र रह ह क त नस ल क द ष ट स इर क न व स अध क शत: अरब ह अब ब स य क पतन क ब द इर क म ग ल त त र य ईर न य ख र द
स ल त न क म त य क ब द 26 स तम बर 1962 इस व क यमन म क र त ह गय यमन क क र त क र सरक र न र स तथ म स त र क सय ग स यमन म गणतन त र क स थ पन
ज झन क ल ए क ई ठ स रणन त नह ह दरअसल इर क, इजर यल क कई अरब द श स अनबन ह अफग न स त न, ईर न स र य और प क स त न म ह न व ल घटन ए एक - द सर क
य द ध क द र न ह आ इस ल म क पर द पर ण सन 651 म यह ह आ च न म धर म ज वन पद धत ह यह दर शन ह और आध य त म ह च न क जनव द सरक र आध क र क र प स
ब ग ल द श गणतन त र ब ग ल गणप रज तन त र ब ग ल द श दक ष ण ज ब द व प क एक र ष ट र ह द श क उत तर, प र व और पश च म स म ए भ रत और दक ष णप र व
प रक श म ल न एक त सर न म ह न द स त न भ ह ज सक अर थ ह न द क भ म यह न म व श षकर अरब ईर न म प रचल त ह आ इसक समक ल न उपय ग कम और प र य उत तर भ रत
म य द न एक प न - अरब स ट श य - क द र त उपग रह ट ल व जन च नल ह ज स इस ल म गणत त र ईर न द व र समर थ त क य गय ह इस 11 ज न 2012 क ल बन न म ल न च क य
भ ग ल य न कटत न यह क र ष ट र य घटन ओ और अवसर क महत त व क कई ग ण बढ द य ह यह कई र ष ट र य त य ह र ज स गणत त र द वस, स वत त रत द वस और

इ ड न श य ई इस ल म व स त कल व श ष र प स ज स स म त र म द खन क म लत ह भ रत य म गल व स त कल स गहर ई स प रभ व त ह ई ह ज आच ह और म द न क मह न
इस प रक र इस ल म म भ स र य क स थ न बह त महत वप र ण ह उम मयद ख ल फ त 650 - 735 क समय दम श क इस ल म क र जध न थ और म सलम न दम श क क तरफ नम ज
अ तरमह द व प य द श ह तथ अफ र क भ मध य क ष त र, मध य प र व और इस ल म द न य क यह एक प रम ख शक त ह इसक क ष त रफल 1010000 वर ग क ल म टर ह और
गय और एक नए गणत त र क न र म ण ह आ ज स अक ट बर 1964 म त ज न य न म द य गय फ र मर स, 2002 उन ग ज द व प पर स थ त ज ज ब र क र जध न क न म
अत र क त प र न द न य क अन य सभ - म स प ट म य क स म र यन, अस र यन, ब ब ल न यन और ख ल द प रभ त तथ म स र ईर न य न न और र म क - स स क त य क ल क कर ल
भ रत य सशस त र बल भ रत सरक र क रक ष म त र लय रक ष म त र लय क प रब धन क तहत कर रह ह 14 ल ख स अध क सक र य कर म य क त कत क स थ, यह द न य क
एश य स थ क द र न इस ल म धर म स व क र करन व ल ल ग न उस स स क त क अपन ल य फ रस भ ष क उस समय मध य एश य ज स इस ल म क ष त र म सबस महत त वप र ण
अपन आध पत य जम ल य मध य टर क म क न य क र जध न बन कर उन ह न इस ल म स स क त क अपन य इस स म र ज य क र म सल तनत कहत ह क य क इस इल क
जनस ख य क प रत शत बह स ख यक ब द ध द श आज व श व म 20 स अध क द श गणत त र र ज य भ म ब द ध धर म बह स ख यक य प रम ख धर म क र प म ह अध क त

एरियाना अफ़्गान एयरलाइंस

एरियाना अफ़्गान एयरलाइंस कंपनी लि., जिसे एरियाना भी कहा जाता है, अफ़्गानिस्तान की सबसे बड़ी वायु-सेवा है। यह वहां की राष्ट्रीय कैरियर भि घोषित है। १९५५ में स...

फ़र्ज़

फ़र्ज फ़ारसी मूल का एक शब्द है जिसे उर्दू और हिन्दी में भी इस्तेमाल किया जाता है। इसका अर्थ है - किसी का कर्तव्य फ़र्ज तीन हिन्दी फ़िल्मों का शीर्षक भी है: फ...

सिरी द्वीप

सिरी द्वीप, फ़ारस की खाडी़ में स्थित एक द्वीप है। सिरी द्वीप फ़ारस की खाडी़ में बंदर-ए लेंगेह से ७६ किमी और पूर्वी अबु मुसा द्वीप से ५० किमी की दूरी पर स्थित...

लिंग (व्याकरण)

व्याकरण के सन्दर्भ में लिंग से तात्पर्य भाषा के ऐसे प्रावधानों से है जो वाक्य के कर्ता के स्त्री/पुरुष/निर्जीव होने के अनुसार बदल जाते हैं। विश्व की लगभग एक ...

निशात

निशात या नशात हिन्दी में अरबी से लिया गया एक शब्द है, जिसका अर्थ होता है "जोश, उर्जा, भभक, रौनक़"। इसे अरबी-फ़ारसी लिपि में نشاط ‎ लिखते हैं। यह एक बहुअर्थी ...