ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 391

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अंतर्गत मौसम विज्ञान प्रक्षेण, मौसम पूर्वानुमान और भूकम्प विज्ञान का कार्यभार सँभालने वाली सर्वप्रमुख एजेंसी है। मौसम विज्ञान विभाग का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। इस विभाग के ...

मौसम का पूर्वानुमान

मौसम का पूर्वानुमान का अर्थ है किसी स्थान के वायुमंडल की भविष्य में स्थिति की भविष्यवाणी करना। मनुष्य हजारों वर्षों से अनौपचारिक रूप से मौसम की भविष्यवाणी करते रहा है और औपचारिक रूप से कम से कम उन्नीसवीं शती से मौसम की भविष्यवाणी कर रहा है।

मौसम विज्ञान

ऋतुविज्ञान या मौसम विज्ञान कई विधाओं को समेटे हुए विज्ञान है जो वायुमण्डल का अध्ययन करता है। मौसम विज्ञान में मौसम की प्रक्रिया एवं मौसम का पूर्वानुमान अध्ययन के केन्द्रबिन्दु होते हैं। मौसम विज्ञान का इतिहास हजारों वर्ष पुराना है किन्तु अट्ठारहव ...

विश्व मौसम विज्ञान दिवस

हर वर्ष 23 मार्च को विश्व मौसम विज्ञान दिवस बनाया जाता है।30 मार्च सन 1950 को विश्व मौसम संगठन संयुक्त राष्ट्र के एक विभाग के रूप में स्थापित हुआ तथा जेनेवा में इसका मुख्यालय रखा गया। भूविज्ञान पर आधारित मौसम विभाग में कई विषयों पर शोध होता है इस ...

ओमूआमूआ

ओमूआमूआ एक अंतरतारकीय वस्तु है, यानि यह किसी तारे के गुरुत्वाकर्षक बंधन में नहीं बंधी हुई। यह हमारे सौर मंडल से होकर गुज़रने वाली पहली ज्ञात अंतरतारकीय वस्तु है। ओमूआमूआ 230 x 35 x 35 मीटर के आकार का एक कम-सक्रीय धूमकेतु है। इसका रंग बाहरी सौर मं ...

१८६२ अपोलो

१८६२ अपोलो एक पत्थरीला क्षुद्रग्रह है जो १.५ किमी का व्यास रखता है और एक पृथ्वी-समीप वस्तु है। इसे सन् १९३२ में कार्ल रायनमुथ नामक खगोलशास्त्री ने ढूंढ निकाला था, लेकिन अपनी खोज के बाद यह खोया गया और फिर ४१ सालों बाद १९७३ में ही जाकर फिर मिला। यह ...

सवाना

sawana उष्णकटिबंधीय घास के मैदानों को कहते हैं। यहां पर्याप्त रूप से छोटे वृक्ष ऐसे लगे होते हैं, कि यह क्षेत्र एकदम एकसार घना हरा भरा रहता है। ये फैले हुए वृक्षो के साथ घास के मैदान है।

सहेल

साहेल या सहेल पट्टी अफ़्रीका के पश्चिम से पुर्व तक फ़ैला एक क्षेत्र है जो सहारा के रेगिस्तान को दक्षिण के घास के मैदानो से पृथक करता है। सहेल पट्टी की लंबाई ३,८६२ किलोमीटर है और यह अटलांटिक महासागर से लेकर लाल सागर तक फ़ैली हुई है। इस पट्टी की चो ...

कच्छ का रण

कच्छ का रण तथा महान कच्छ का रण गुजरात प्रांत में कच्छ जिले के उत्तर तथा पूर्व में फैला हुआ एक नमकीन दलदल का वीरान प्रदेश है। यह लगभग 23.300 वर्ग कि॰मी॰ क्षेत्रफल में फैला हुआ है। यह समुद्र का ही एक सँकरा अंग है जो भूचाल के कारण संभवतः अपने मौलिक ...

थार मरुस्थल

थार मरुस्थल भारत के उत्तरपश्चिम में तथा पाकिस्तान के दक्षिणपूर्व में स्थितहै। यह अधिकांश तो राजस्थान में स्थित है परन्तु कुछ भाग हरियाणा, पंजाब,गुजरात और पाकिस्तान के सिंध और पंजाब प्रांतों में भी फैला है। अरावली पहाड़ी के पश्चिमी किनारे पर थार म ...

मैन्ग्रोव

मैंग्रोव ऐसे क्षुप व वृक्ष होते हैं जो खारे पानी या अर्ध-खारे पानी में पाए जाते हैं। अक्सर यह ऐसे तटीय क्षेत्रों में होते हैं जहाँ कोई नदी किसी सागर में बह रही होती है, जिस से जल में मीठे पानी और खारे पानी का मिश्रण होता है। मैंग्रोव वनों का पारि ...

कुमारकोम

वेम्बानद झील के शांत किनारे पर बसा कुमारकोम केरल का एक छोटा और खूबसूरत नगर है। कुट्टानद क्षेत्र में स्थित यह नगर कोट्टायम से 14 किलोमीटर दूर है। पहले इस स्थान को रबड़ प्लान्टेशन के लिए जाना जाता था लेकिन अब यह स्थान पक्षी अभयारण्य के रूप में विकस ...

क्रिस्टल स्वभाव

खनिज विज्ञान में क्रिस्टल स्वभाव किसी खनिज के एक विषेश आकार से ही बनने या बढ़ने के लक्षण को कहते हैं। मसलन ऐस्बेस्टस बनाने वाले खनिज महीन रेशों के गुच्छे बनाने का स्वभाव रखते हैं जबकि हीरे में कार्बन आठ-मुखीय क्रिस्टल बनाने का स्वभाव रखता है।

खनिज

खनिज ऐसे भौतिक पदार्थ हैं जो खान से खोद कर निकाले जाते हैं। कुछ उपयोगी खनिज पदार्थों के नाम हैं - लोहा, अभ्रक, कोयला, बॉक्साइट, नमक, जस्ता, चूना पत्थर इत्यादि।

ग्रहीय क्रोड

ग्रहीय क्रोड किसी ग्रह, उपग्रह या बड़े क्षुद्रग्रह की सबसे भीतरी तह को कहा जाता है। यह ठोस या द्रव या उन दोनों की परतों का सम्मिलन हो सकती है। हमारे सौर मंडल में ग्रहीय क्रोड का पूरी वस्तु की त्रिज्या में हिस्सा चंद्रमा में २०% से लेकर बुध ग्रह म ...

दक्कन उद्भेदन

दक्कन उद्भेदन अथवा दकन ट्रैप भारत के पश्चिमी हिस्से में एक प्रदेश है जहाँ की भूवैज्ञानिक संरचना क्रीटाशियस युग के के ज्वालामुखी उद्भेदन के दौरान बनी बेसाल्ट चट्टानों है और इस इलाके में बेसाल्ट के ऊपर बनी काली रेगुर मिट्टी पायी जाती है। यह 17°–24° ...

भारत का भूविज्ञान

भारतीय भू‍वैज्ञानिक क्षेत्र व्‍यापक रूप से भौतिक विशेषताओं का पालन करते हैं और इन्‍हें तीन क्षेत्रों के समूह में रखा जा सकता है: ३ प्रायद्वीपीय ओट। २ भारत-गंगा मैदान क्षेत्र, और 1 हिमाचल पर्वत श्रृंखला और उनके संबद्ध पर्वत समूह, उत्‍तर में हिमाचल ...

1868 एरिका भूकंप

1868 एरिका भूकंप, 13 अगस्त 1868 को 21:30 बजे एरिका के पास आया था। एरिका उस समय पेरू का हिस्सा था जो वर्तमान में चिली का अभिन्न अंग हैं। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 8.5 और 9.0 के बीच अनुमानित की गई। इस भूकम्प द्वारा प्रशांत महासागर में निर्मित स ...

2007 पेरू भूकम्प

१५ अगस्त २००७ को पेरु के स्थानीय समय शाम के ६ बजे के अनुसार भूकम्प मापी यन्त्र के द्वारा ७.९ की गति से आये भूकम्प में लगभग ३७ लोग हताहत हुये और ३०० के आस पास जख्मी हो गये बताये गये हैं। इस भूकम्प आने के स्थान के स्थान के पास चिन्चा नामक शहर भी बस ...

गुजरात भूकम्प २००१

2001 का गुजरात भूकंप, जिसे भुज भूकंप के नाम से भी जाना जाता है, 26 जनवरी 2001, भारत के 51 वें गणतंत्र दिवस, की सुबह 08:46 बजे हुआ और 2 मिनट से अधिक समय तक चला। इसका केंद्र भारत के गुजरात के कच्छ जिले के भचौ तालुका में चबारी गांव के लगभग 9 किमी दक ...

जावा भूकंप २००९

जावा भूकंप २००९ २ सितंबर २००९ को इंडोनेशिया के जावा द्वीप में स्थानीय समय १४:५५ को आया भूकंप है। इसकी तीव्रता ७.३ मापी गई और इसमे ४२ लोगो के मारे जाने की खबर हैं। भूंकप का केंद्र जावा के दक्षिणी तट पर तासिकमलय शहर के पास था। यह जकार्ता से दो सौ क ...

२०१६ उत्तर-पूर्व भारत भूकम्प

३ जनवरी को उत्तर पूर्वी भारत में इम्फाल मणिपुर में ६.७ तीव्रता का तेज भूकम्प आया जिसमें कुल ११ लोगों की जानें गई तथा लगभग २०० लोग घायल हुए। इस भूकम्प में कई इमारतें ध्वस्त हुए हैं। भूकंप को दृढ़ता से बांग्लादेश में भी महसूस किया गया था।

अनुप्रयुक्त भूभौतिकी

अनुप्रयुक्त भूभौतिकी, या भूभौतिक पूर्वेक्षण में पृथ्वी के पृष्ठ पर भौतिक मापों के द्वारा अधस्थल भूवैज्ञानिक जानकारियों का संग्रह किया जाता है। इसका उद्देश्य खनिज, पेट्रोलियम, जल, घात्विक निक्षेप, विखंडनीय पदार्थो का स्थान-निर्धारण और बाँध, रेलमार ...

भूगतिकी

भूगतिकी भूभौतिकी की वह शाखा है जो पृथ्वी पर केन्द्रित गति विज्ञान का अध्ययन करती है। इसमें भौतिकी, रसायनिकी और गणित के सिद्धांतों से पृथ्वी की कई प्रक्रियाओं को समझा जाता है। इनमें भूप्रावार में संवहन द्वारा प्लेट विवर्तनिकी का चलन शामिल है। सागर ...

भूधाराएँ

भूपर्पटी में प्रवाहित विद्युत धाराओं को भू-धाराएँ कहते हैं। यह वह धारा है जो भूमि के अन्दर से या समुद्र से होकर बहती है। ये बहुत ही कम आवृत्ति की विद्युत-धाराएँ हैं जो धरती के तल या उसके आसपास बहुत बड़े क्षेत्रफल में प्रवाहित होतीं हैं। इनकी उत्प ...

भूभौतिकी

भूभौतिकी पृथ्वी की भौतिकी है। इसके अंतर्गत पृथ्वी संबंधी सारी समस्याओं की छानबीन होती है। साथ ही यह एक प्रयुक्त विज्ञान भी है, क्योंकि इसमें भूमि समस्याओं और प्राकृतिक रूपों में उपलब्ध पदार्थों के व्यवहार की व्याख्या मूल विज्ञानों की सहायता से की ...

राष्ट्रीय भूभौतिकीय अनुसंधान संस्थान

राष्ट्रीय भूभौतिकीय अनुसंधान संस्थान, वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद् की एक संघटक प्रयोगशाला है। पृथ्वी विज्ञान के बहुविषयी क्षेत्रों में अनुसंधान करने के ध्येय से राष्ट्रीय भूभौतिकीय अनुसंधान संस्थान की स्थापना 1961 में की गई। एनजीआरआई का ...

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →