ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 310

खमाच

खमाच भारतीय संगीत का एक राग है। यह संपूर्ण षाडव है। इसका वादी स्वर गांधाऔर संवादी निषाद है। आरोह में ऋषभ वर्जित है। निषाद शुद्ध, अवरोह कोमल और अन्य सभी स्वर शुद्ध लगते हैं। यह राग शृंगारप्रधान है। इसके गाने का समय रात्रि का द्वितीय पहर बताया गया है।

ख़याल

ख्याल या ख़याल भारतीय संगीत का एक रूप है। वस्तुत: यह ध्रुपद का ही एक भेद है। अंतर केवल इतना ही है कि ध्रुपद विशुद्ध भारतीय है। ख्याल में भारतीय और फारसी संगीत का मिश्रण है। यह राजस्थान का एक प्रसिद्ध लोकनाट्य परंपरा भी रहा है

ख्याल (मालवी गीत)

हास्य प्रधान मालवी गीत और चित्र को ख्याल कहते हैं। किंतु इसका अभिप्राय राजस्थान में एक प्रकार के लोकनाट्य से समझा जाता है जो उत्तर प्रदेश की नौटंकी तथा मालवा के माच से मिलता जुलता है। यह खुले प्रांगण में खेला जाता है। चारों ओर दर्शक बैठते हैं, बी ...

गायन समय

भारतीय शास्त्रीय संगीत में प्रत्येक राग के गाने का समय निश्चित है। यह समय दिन या रात के प्रहरों में निश्चित किया गया है। दिन के चार प्रहर माने गए हैं और रात के भी चार प्रहर हैं। सभी रागों को उनकी प्रकृति के अनुसार इन आठ प्रहरों में से किसी प्रहर ...

जिओ सावन

जिओ सावन - JioSaavn एक भारतीय संगीत स्ट्रीमिंग सेवा और की एक डिजिटल वितरक है बॉलीवुड, अंग्रेजी और अन्य क्षेत्रीय भारतीय संगीत दुनिया भर में। चूंकि इसे 2007 में Saavn के रूप में स्थापित किया गया था, इसलिए कंपनी ने 15 भाषाओं में 5 करोड़ से अधिक संग ...

डार्क प्रॉजेक्ट

वर्ष 2005 में इनकी प्रथम कृतियां एक एक्सटेन्डेड प्ले के रूप मेंे रिलीज़ हुई। इसमें 6 गाने थे - ऎपीलॉग वॉकिंग अगेन 2 भावों में रिकंस्ट्रक्ट ड्रेंच्ड द प्रोलॉग माइ लास्ट क्राइम

दमाल कृष्णास्वामी पट्टम्माल

श्रीमती डामल कृष्णस्वामी पट्टम्माल कर्णाटक संगीत के विख्यात गायिकाओं में गिनी जाती हैं। आप तथा आपकी दो समवयस्क गायिकाएं" कर्णातक संगीत की महिला त्रिमूर्तियां” कहलाती हैं। श्रीमती पट्टम्माल का जन्म २ मर्च १९१९ को कांचीपुरम तमिलनाडु में हुआ। आपके प ...

बंदिश

हिन्दुस्तानी गायन या वादन में बंदिश से तात्पर्य एक निश्चित सुरसहित रचना से है। बंदिश किसी विशेष राग में निर्मित होती है। इसे गाने/बजाने के साथ तबला या पखावज द्वारा ताल मिलाया जाता है और सारंगी, वायलिन अथवा हारमोनियम द्वारा सुस्वरता प्रदान की जाती ...

भजन

भारतीय संगीत के मुख्य रूप से तीन भेद किये जाते हैं। शास्त्रीय संगीत, सुगम संगीत और लोक संगीत। भजन सुगम संगीत की एक शैली है। इसका आधार शास्त्रीय संगीत या लोक संगीत हो सकता है। इसको मंच पर भी प्रस्तुत किया जा सकता है लेकिन मूल रूप से यह किसी देवी य ...

भारत में संगीत-शिक्षण

१८ वीं शताब्दी में घराने एक प्रकार से औपचारिक संगीत-शिक्षा के केन्द्र थे परन्तु ब्रिटिश शासनकाल का आविर्भाव होने पर घरानों की रूपरेखा कुछ शिथिल होने लगी क्योंकि पाश्चात्य संस्कृति के व्यवस्थापक कला की अपेक्षा वैज्ञानिक प्रगति को अधिक मान्यता देते ...

भारतीय लोकसंगीत

भारतीय लोकसंगीत भी भारतीय संस्कृति की भांति अत्यन्त विविधतापूर्ण है। पूरे भारत में लोकसंगीत के अनेक रूप विद्यमान हैं, जैसे भांगड़ा, लावणी, डंडिया, "राजस्थानी आदि।

भारतीय संगीत

भारतीय संगीत प्राचीन काल से भारत मे सुना और विकसित होता संगीत है। इस संगीत का प्रारंभ वैदिक काल से भी पूर्व का है। इस संगीत का मूल स्रोत वेदों को माना जाता है। हिंदु परंपरा मे ऐसा मानना है कि ब्रह्मा ने नारद मुनि को संगीत वरदान में दिया था। पंडित ...

मेलकर्ता

मेलकर्ता राग कर्नाटक संगीत के मूल रागों का समूह है। मेलकर्ता राग, जनक राग कहलाते हैं जिनसे अन्य राग उत्पन्न किये जा सकते हैं। मेलकर्ता रागों की संख्या बहत्तर मानी जाती है। मेलकर्ता को मेल, कर्ता या सम्पूर्ण भी कहते हैं। विजयनगरम के महान संगीतज्ञ ...

रवींद्र संगीत

रवीन्द्र संगीत बांग्ला: রবীন্দ্রসঙ্গীত IPA, जिसे अंग्रेजी में टैगोर सांस के रूप में जाना जाता है, रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा रचित एक संगीत विधा है, जिन्होंने सामान्य रूप से भारत और विशेष रूप से बंगाल की संगीत अवधारणा में एक नया आयाम जोड़ा. रवीन्द्र ...

राग

राग शब्द संस्कृत की रंज् धातु से बना है। रंज् का अर्थ है रंगना। जिस तरह एक चित्रकार तस्वीर में रंग भरकर उसे सुंदर बनाता है, उसी तरह संगीतज्ञ मन और शरीर को संगीत के सुरों से रंगता ही तो हैं। रंग में रंग जाना मुहावरे का अर्थ ही है कि सब कुछ भुलाकर ...

लोक संगीत

वैदिक ॠचाओं की तरह लोक संगीत या लोकगीत अत्यंत प्राचीन एवं मानवीय संवेदनाओं के सहजतम उद्गार हैं। ये लेखनी द्वारा नहीं बल्कि लोक-जिह्वा का सहारा लेकर जन-मानस से निःसृत होकर आज तक जीवित रहे। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने कहा था कि लोकगीतों में धरती ग ...

षड्ज

संगीत के सात स्वरों में से पहला स्वर जो साधारणतः ‘सा’ कहलाता है। संगीत शास्त्र के अनुसार इस स्वर का उच्चारण नासा, कण्ठ, उर, तालु, जीभ और दाँतों के सम्मिलित प्रयत्न से होता है इसलिए इसका नाम षडज् पड़ा है। प्रायः संगीतकार हमें शुरुआत में ही इस स्वर ...

संगीत कलानिधि

संगीत कलानिधि एक सम्मान है जो मद्रास संगीत अकादमी द्वारा प्रतिवर्ष कर्नाटक संगीत के किसी संगीतज्ञ को प्रदान किया जाता है। यह कर्नाटक संगीत के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार माना जाता है।

स्वरमेलकलानिधि

स्वरमेळकलानिधि १६वीं शताब्दी में विजयनगरम के संगीतज्ञ राममात्य द्वारा रचित एक अत्यन्त प्रसिद्ध संगीत ग्रंथ हैं। सन १५५० में रचित यह ग्रन्थ कर्नाटक संगीत के नवरत्नों में गिना जाता है। इस ग्रन्थ का महत्व इस तथ्य में निहित है कि इससे पहले लिखे गए सं ...

स्वरलिपि

संस्थागत संगीत शिक्षण प्रणाली के उद्भव के साथ वास्तव में भारतीय संगीत की परंपरा में पहली बार व्यावहारिक संगीत को लेखबद्ध करने का प्रयास प्रारंभ हुआ। फलस्वरूप, संगीत के व्यावहारिक पक्ष को मज़बूती प्रदान करने के निमित्त विभिन्न रागों की बंदिशों और ...

गमेलन

Another virtual gamelan. Allows to play, and "program" sequencer like gamelans. Text is in French. Play a gamelan instrument online The Virtual Javanese Gamelan play and compose Javanese music using this award winning free resource A collection o ...

प्रयोगात्मक वाद्य यंत्र

प्रयोगात्मक वाद्य यंत्र उन वाद्य यन्त्रों को कहते हैं जो किसी प्रचलित वाद्य यन्त्र में परिवर्तन/परिवर्धन करके बनाए जाते हैं, या कोई बिलकुल ही नया वाद्ययन्त्र बनाया या पारिभाषित किया गया हो।

रावण हत्था

रावण हत्था एक भारतीय वाद्य यंत्र है। यह एक प्राचीन मुड़ा हुआ वायलिन है, जो भारत और श्रीलंका के साथ-साथ आसपास के क्षेत्रों में लोकप्रिय है। यह एक प्राचीन भारतीय तानेवाला संगीत वाद्ययंत्र है जिस पर पश्चिमी वाद्य संगीत वाद्य जैसे वायलिन और वायला बाद ...

संतूर

संतूर भारत के सबसे लोकप्रिय वाद्ययंत्र में से एक है जिसका प्रयोग शास्त्रीय संगीत से लेकर हर तरह के संगीत में किया जाता है। संतूर एक वाद्य यंत्र है। संतूर का भारतीय नाम शततंत्री वीणा यानी सौ तारों वाली वीणा है जिसे बाद में फ़ारसी भाषा से संतूर नाम ...

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →