ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 273

अतिरिक्त संवेदी बोध

अतिरिक्त संवेदी बोध में ऐसी जानकारी शामिल होती है जो ज्ञात भौतिक चेतना के माध्यम से हासिल नहीं होती लेकिन जिसका भान, बुद्धि द्वारा होता है। इस शब्द को सर रिचर्ड बर्टन द्वारा गढ़ा गया था, और मानसिक क्षमताओं की जानकारी देने के लिए ड्यूक विश्वविद्या ...

अश्वमेध यज्ञ: विधि और युक्ति

अश्वमेध यज्ञ: विधि और युक्ति सुभाष काक की लिखी एक पुस्तक है जिसे मोतीलाल बनारसीदास ने २००१ में प्रकाशित किया। इसमें यह दिखलाया है कि प्रारम्भ में यह यज्ञ आन्तरिक और बाह्य सूर्य के समीकरण और स्वप्रेरणा से जुडा हुआ था।

रक्त चंदन

रक्त चन्दन दक्षिण भारत के जंगलों में पाया जाने वाला एक पेड़ है जिसकी लकड़ी हिन्दूओं के द्वारा पवित्र मानी जाती है। सफ़ेद चन्दन से अलग इसमें कोई सुगन्ध नहीं होती लेकिन शैव तथा शाक्त परंपराओं को मानने वाले लोग इसका इस्तेमाल पूजा में करते हैं। कर्ना ...

राजसूय

राजसूय वैदिक काल का विख्यात यज्ञ है। इसे कोई भी राजा चक्रवती सम्राट बनने के लिए किया करते थे। यह एक वैदिक यज्ञ है जिसका वर्णन यजुर्वेद में मिलता है। इस यज्ञ की विधी यह है की जिस किसी भी राजा को चक्रचती सम्राट बनना होता था वह राजसूय यज्ञ संपन्न कर ...

अनासक्ति योग

राग और द्वेष से असंपृक्त हो जाना ही अनासक्ति है। महात्मा गाँधी ने गीता के श्लोकों का सरल अनुवाद करके अनासक्ति योग का नाम दिया। कर्तव्य कर्म करते समय निष्पृह भाव में चले जाना ही अनासक्त भाव है। बुद्ध ने इसे उपेक्षा कहा है।

कुंडलिनी योग

कुण्डलिनी योग या लय योग का अर्थ है - चित्र मिलन मे लीन हो जाना, प्राण संचार करना, ब्रह्म के ज्ञान में लीन होना। कुण्डलिनी योग पर तन्त्र सम्प्रदाय और शाक्त सम्प्रदाय का अधिक प्रभाव रहा है। चित्त का अपने स्वरूप विलीन होना या चित्त की निरूद्ध अवस्था ...

हठयोग

हठयोग चित्तवृत्तियों के प्रवाह को संसार की ओर जाने से रोककर अंतर्मुखी करने की एक प्राचीन भारतीय साधना पद्धति है, जिसमें प्रसुप्त कुंडलिनी को जाग्रत कर नाड़ी मार्ग से ऊपर उठाने का प्रयास किया जाता है और विभिन्न चक्रों में स्थिर करते हुए उसे शीर्षस ...

ऊष्ट्रासन

जोर से या झटके से इस आसन को न करें। पीछे झुकते समय जंघा सीधी रखें। अंतिम स्थिति में गर्दन से लेकर घुटने तक का भाग सीधा रहेगा। वापस आते समय झटका देकर न आएँ। जिन लोगों को हर्निया की शिकायत हो, उन्हें यह आसन नहीं करना चाहिए।

दण्डासन

दण्डासन को सामान्य बोलचाल के भाषा में `दण्ड लगान´ भी कहते हैं। पुराने समय में कुश्ती के अखाड़े में भी इस आसन को किया जाता था। इस आसन को करने का एक और प्रकार भी है जिसमें शरीर को कमर से ऊपर के भाग को तब तक उठाया जाता है जब तक की शरीर व फर्श के बीच ...

पश्चिमोत्तानासन

पश्चिम अर्थात पीछे का भाग- पीठ। पीठ में खिंचाव उत्पन्न होता है, इसीलिए इसे पश्चिमोत्तनासन कहते हैं। इस आसन से शरीर की सभी माँसपेशियों पर खिंचाव पड़ता है। नमासते मितरो मेरा नाम दिप

पादांगुष्टासन

इसमें हम दोनों हाथों से अपने पैर के अँगूठे को पकड़ते हैं, पैर के टखने भी पकड़े जाते हैं। चूँकि हाथों से पैरों को पकड़कर यह आसन किया जाता है इसलिए इसे पादांगुष्टासन कहा जाता है।

वज्रासन

इसके करने से अपचन, अम्लपित्त, गैस, कब्ज की निवृत्ति होती है। भोजन के बाद 5 से लेकर 15 मिनट तक करने से भोजन का पाचक ठीक से हो जाता है। वैसे दैनिक योगाभ्यास मे 1-3 मिनट तक करना चाहिए। घुटनों की पीड़ा को दूर करता है। इस्के करने से आप पाते है विर्य व ...

हलासन

इस आसन में शरीर का आकार हल जैसा बनता है। इससे इसे हलासन कहते हैं। हलासन हमारे शरीर को लचीला बनाने के लिए महत्वपूर्ण है। इससे हमारी रीढ़ सदा जवान बनी रहती है।

निरंजनानन्द सरस्वती

स्वामी निरंजनानन्द सरस्वती सत्यानन्द सरस्वती के शिष्य एवं उत्तराधिकारी हैं। स्वामी सत्यानन्द सरस्वती ने सत्यानन्द योग का प्रवर्तन किया था। स्वामी सत्यानन्द ने सन् १९८८ में सम्पूर्ण विश्व के सत्याननद योग से सम्बन्धित कार्यों के समन्वय का कार्य स्व ...

महावतार बाबाजी

एक भारतीय संत को लाहिड़ी महाशय और उनके अनेक चेलों ने महावतार बाबाजी का नाम दिया जो 1861 और 1935 के बीच महावतार बाबाजी से मिले। इन भेंटों में से कुछ का वर्णन परमहंस योगानन्द ने अपनी पुस्तक एक योगी की आत्मकथा 1946 में किया है इसमें योगानन्द की महाव ...

मिलारेपा

मिलारेपा तिब्बत के सबसे प्रसिद्ध योगियों तथा कवियों में से एक थे।वहां से चला गया, लेकिन वह बच्चा वहीं खड़ा रहा। जब मिलारेपा ने जुताई का काम पूरा कर लिया, तो वह वहीं एक तरफ हैरानी से भरा खड़ा हो गया, क्योंकि उसे पता नहीं था कि अब करना क्या है। वह ...

विशुद्धानन्द परमहंस

स्वामी विशुद्धानन्द परमहंसदेव एक आदर्श योगी, ज्ञानी, भक्त तथा सत्य संकल्प महात्मा थे। परमपथ के इस प्रदर्शक ने योग तथा विज्ञान दोनों ही विषयों में परमोच्च स्थिति प्राप्त कर ली थी।

सन्त चरणदास

सन्त चरणदास भारत के योगाचार्यों की श्रृंखला में सबसे अर्वाचीन योगी के रूप में जाने जाते है। आपने चरणदासी सम्प्रदाय की स्थापना की। इन्होने समन्वयात्मक दृष्टि रखते हुए योगसाधना को विशेष महत्व दिया।

स्वात्माराम

स्वात्माराम १५वीं-१६वीं शताब्दी के एक योगी थे। उन्होने हठयोग प्रदीपिका नामक ग्रन्थ का संकलन किया जो हठयोग का प्रसिद्ध ग्रन्थ है। गुरु गोरखनाथ सम्भवतः स्वात्माराम के गुरु थे।

स्वामी राम

यह लेख स्वामी राम के बारे में है, स्वामी रामतीर्थ के लिए उस लेख पर जाँय। स्वामी राम 1925–1996 एक योगी थे जिन्होने हिमालयन इन्टरनेशनल इन्स्टीट्यूट ऑफ योगा सांइस एण्ड फिलासफी सहित अनेकानेक संस्थानों की स्थापना की। उन्होने लगभग ४४ सर्वाधिक विक्रीत प ...

नेस वाडिया

नेस वाडिया एक भारतीय उद्यमी और व्यवसायी हैं। वे वाडिया समूह की प्रमुख कंपनी और भारत के विख्यात कारोबारों में से एक, बॉम्बे डाइंग के उत्तराधिकारी हैं, जिसके वे संयुक्त प्रबंध निदेशक हैं। वाडिया अपनी पूर्व-प्रेमिका, अभिनेत्री प्रीति जिंटा के साथ, इ ...

होमी मोदी

सर होरमसजी फिरोजशाह मोदी एक प्रसिद्ध पारसी व्यवसायी थे जो टाटा समूह से जुड़े थे। वे उत्तर प्रदेश के प्रथम राज्यपाल बनागए थे। उन्हें प्रायः होमी मोदी के नाम से जाना जाता है।

गंगा तलाब, मॉरिशस

गंगा तलाब मॉरीशस में एक क्रेटर में बना जलाशय है। यह सगर सतह से १८०० फ़ीट ऊपर स्थित है और सवान्ने जिला के पहाड़ी इलाके में स्थित है। यह स्थल मॉरिशस में बसे हिन्दू लोगों के लिए पवित्रतम स्थान है। गंगा तलाव के तट पर ही हिन्दू भगवान शिव, हनुमान और लक ...

मानसरोवर

यह झील लगभग 320 वर्ग किलोमाटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। इसके उत्तर में कैलाश पर्वत तथा पश्चिम में राक्षसताल है। यह समुद्रतल से लगभग 4556 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। इसकी परिमिति लगभग 88 किलोमीटर है और औसत गहराई 90 मीटर।

यमद्रोक झील

यमद्रोक झील या यमद्रोक त्सो या यमद्रोक यम्त्सो तिब्बत में एक मीठे पानी की झील है। यह तिब्बत की चार बड़ी धार्मिक-रूप से पवित्र झीलों में से एक है। यह बर्फ़-ढके पर्वतों से घिरी हुई है और कई झरनों के पानी इसे भरते रहते हैं। झील ग्यांत्से शहर से ९० क ...

दाठावंस

दाठावंस एक बौद्ध काव्य ग्रन्थ है जिसके रचयिता धम्मकीत्ति हैं। वे लीलावती के शासनकाल में हुए थे। यह ग्रन्थ दलदावंस नामक एक पू्र्व सिंहल इतिहास-ग्रन्थ पर आधारित है। यह एक मध्यकाल का बौध ग्रन्थ है। यह पालि भाषा में लिखा गया है। इसमें गौतम बुद्ध के द ...

रिचर्ड गेयर

रिचर्ड टिफेनी गेयर एक अमेरिकी अभिनेता हैं। उन्होंने अपने अभिनय की शुरुआत 1970 के दशक में की और अमेरिकन जिगोलो नामक फ़िल्म में अपने किरदार से 1980 में वे प्रमुखता में आये, जिसने उन्हें एक अग्रणी अभिनेता और एक यौन प्रतीक के रूप में स्थापित किया। इस ...

केट हडसन

केट गैरी हडसन एक अमेरिकी अभिनेत्री हैं। उन्हें सन् 2001 में प्रसिद्धि हासिल हुई जब उन्होंने ऑलमोस्ट फ़ेमस में अपनी भूमिका के लिए कई पुरस्काऔर नामांकन प्राप्त किए और उसके बाद से उन्होंने कई फ़िल्मों में अपने कला का प्रदर्शन करके अपने आपको एक हॉलीव ...

शेरोन स्टोन

शेरोन य्वोन स्टोन एक अमेरिकी अभिनेत्री, फिल्म निर्माता और पूर्व फैशन मॉडल है। एक कामुक रोमांचक फिल्म, बेसिक इंस्टिंक्ट में अपने प्रदर्शन के लिए उसने पहली बार अंतर्राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त की. कैसिनो में अपनी भूमिका के लिए उसने अकेडमी अवॉर्ड फॉर ...

टाइगर वुड्स

टायगर वुड्स एल्ड्रिक टोंट टाइगर वुड्स जन्म 30 दिसम्बर 1975 अमेरिकी पेशेवर गोल्फ खिलाड़ी हैं जिनकी आज तक की उपलब्धियां उन्हें अब तक का सर्वाधिक सफल गोल्फ खिलाड़ी बनाती हैं। वे पूर्व विश्व नंबर 1 तथा दुनिया के सर्वोच्च भुगतान-शुदा पेशेवर खिलाड़ी है ...

जेफरी हॉप्किन्स

जेफरी हॉप्किन्स अमेरिकी तिब्बतविद् हैं। उन्होने वर्जीनिया विश्वविद्यालय के तिब्बती एवं बौद्ध अध्ययन विभाग में वर्ष १९७३ से आरम्भ करके तीन से अधिक दशक तक शिक्षण कार्य किया। उन्होने तिब्बती बौद्ध धर्म से सम्बन्धित २५ से भी अधिक पुस्तकों की रचना की ...

लोबसांग सांगेय

लोबसांग सांगेय, केन्द्रीय तिब्बती प्रशासन के प्रधानमन्त्री हैं। तिब्बत की निर्वासित सरकार के दूसरे प्रधानमंत्री जिन्हें तिब्बत के राजनितिक एवं आध्यात्मिक नेता दलाई लामा के राजनीति से सन्यास लेने की घोषणा करने के बाद प्रधानमंत्री के रूप में दुनिया ...

किंकाकू जी

किंकाकू जी जापान के क्योतो नगर में स्थित जेन बौद्ध मंदिर है। सुनहरे गुंबद वाला किंकाकू-जी मंदिर क्योको-ची तलाब के ठीक सामने बना है। इसके गुंबद और मंदिर की तालाब के पानी में पड़ने वाली छाया यहां के नजारे को और भी खूबसूरत बनाती है। ये बौद्ध मंदिर य ...

कियोमीजू-डेरा

कियोमीजू-डेरा आधिकारिक तौपर ओटावा-सान कियोमिजु-डेरा, पूर्वी क्योटो में स्थित एक स्वतंत्र बौद्ध मंदिर हैं।यह मंदिर प्राचीन क्योटो के ऐतिहासिक स्मारकों का हिस्सा हैं, और यूनेस्को विश्व धरोहर स्थल में से एक हैं। इस स्थान को, यसूग्गी शिमेना में स्थित ...

तोडाई-जी

तोडाई-जी) नारा, जापान में स्थित एक बौद्ध मंदिर परिसर हैं, जो कभी शक्तिशाली सात महान मंदिरों में से एक था। इसका महान बुद्ध बरामदा, दुनिया की सबसे बड़ी कांस्य प्रतिमा बुद्ध वैरोकोना का घर हैं, जापान में जिसे डाइबात्सु के रूप में जाना जाता हैं। यह म ...

रैंकोजी मन्दिर

रैंकोजी मन्दिर, अं: Renkōji Temple) जापान के टोकियो में स्थित एक बौद्ध मन्दिर है। 1594 में स्थापित यह मन्दिर बौद्ध स्थापत्य कला का दर्शनीय स्थल है। एक मान्यता के अनुसार भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के अग्रिम सेनानी सुभाष चन्द्र बोस की अस्थियाँ यहाँ ...

सेन्सो-जी

सेन्सो-जी, एक प्राचीन बौद्ध मंदिर है जो असुकुसा, टोक्यो, जापान में स्थित हैं। यह टोक्यो का सबसे पुराना और महत्वपूर्ण मंदिर हैं। पूर्व में बौद्ध धर्म के तेंदई संप्रदाय से जुड़ा यह मन्दिर, द्वितीय विश्व युद्ध के बाद यह स्वतंत्र हो गया। मंदिर के समी ...

ञिङमा

ञिङमा, तिब्बती बौद्ध धर्म की पांच प्रमुख शाखाओं में से एक हैं। तिब्बती भाषा में "ञिङमा" का अर्थ "प्राचीन" होता है। कभी-कभी इसे ङग्युर भी कहा जाता है जिसका अर्थ "पूर्वानूदित" होता है, जो नाम इस सम्प्रदाय द्वारा सर्वप्रथम महायोग, अनुयोग, अतियोग और ...

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →